कश्मीर: भूगोल की स्कूली पुस्तक पर बवाल

कश्मीर स्कूल (फाइल)
Image caption भारतीय सेना स्थानीय बच्चों की शिक्षा के लिए स्कूल चलाती है जिन्हें 'गुडविल स्कूल' कहते हैं.

भारत प्रशासित कश्मीर में सेना ने 'गुडविल स्कूलों' में पढ़ाई जा रही भूगोल की किताबों पर रोक लगा दी है.

पुस्तक में पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर को 'आजाद जम्मू और कश्मीर' बताया गया था.

पाकिस्तान इन इलाकों को 'आजाद कश्मीर' बताता है जबकि भारत इन्हें 'पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर' कहता है.

गुडविल स्कूल वो स्कूल हैं जो भारतीय सेना भारतीय प्रशासित कश्मीर के क्षेत्र में संचालित करती है.

सेना के श्रीनगर स्थित 15 कोर मुख्यालय के एक अधिकारी ने बीबीसी को बताया, "सेना के स्कूल सेंट्रल बोर्ड ऑफ सैकेंडरी एजूकेशन (सीबीएससी) के पाठ्यक्रम का अनुसरण करते हैं जो इन किताबों को छापती भी हैं. इस मामले पर अंतिम निर्णय केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय को लेना है लेकिन हमने गुडविल स्कूलों से कहा है कि वो किताब को पढ़ाना बंद कर दें."

'राष्ट्रीय सुरक्षा का मामला'

मुख्य विपक्षी राजनीतिक दल भारतीय जनता पार्टी ने इसे 'राष्ट्रीय सुरक्षा का मामला' बताया है.

बीजेपी नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने सरकार से कहा है कि वो साफ करे कि क्या ये महज अनदेखी का मामला है या ऐसा जानबुझ कर किया गया है.

किसी इलाके के नाम या कश्मीर को भारत या पाकिस्तान के मानचित्र पर डाल दिए जाने का मामला हमेशा से विवादास्पद रहा है.

पिछले साल भारतीय अधिकारियों ने जानी-मानी पत्रिका 'द इकनामिस्ट' की कापियों को इसलिए जब्त कर लिया था क्योंकि उसमें पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर को पाकिस्तान का हिस्सा बताया गया था.

अधिकारियों ने उर्दू की एक किताब पर रोक लगा दी थी जिसमें वर्दी पहने एक शख्स को जालिम कहा गया था. अंग्रेजी साहित्य के एक प्रोफेसर को इसलिए जेल की सजा काटनी पड़ी थी क्योंकि उन्होंने 'पुलिस के हाथों छात्रों की मौत' पर लेख लिखने को कहा था.

संबंधित समाचार