पटना में आमिर ने खाया लिट्टी चोखा

आमिर इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption आमिर खान जहाँ भी गए वहाँ भीड़ ने उन्हें घेर लिया

फ़िल्म अभिनेता आमिर खान बुधवार दोपहर विमान से अचानक पटना पहुंचे और लगभग चार घंटे यहाँ घूम-फिर कर लोगों से मिलने-जुलने के बाद सड़क मार्ग से बनारस चले गए.

पहली बार बिहार आए आमिर खान को पटना में सड़कों पर अकस्मात अपने बीच देख रहे लोग झुण्ड की शक्ल में उनके पीछे-पीछे लगे रहे.

कोई मोबाइल फ़ोन से उनकी तस्वीरें उतारने में व्यस्त था, तो कोई उनसे तरह-तरह के सवाल पूछते हुए हाथ मिलाने को आकुल-व्याकुल हो रहा था.

आमिर अपने सुरक्षा कर्मियों और स्थानीय पुलिस वालों के घेरे में रहकर भी मुस्कुराते और हाथ हिलाते हुए अपने चाहने वालों की इस दीवानगी का मज़ा ले रहे थे.

लिट्टी-चोखा और मनेर के लड्डू

आमिर खान अपने पहले टेलीविज़न शो के प्रचार के लिए पटना पहुँचे थे.

सबसे रोचक नज़ारा यहाँ संजय गाँधी जैविक उद्यान के प्रवेश द्वार पर दिखा, जहाँ वो बिहार के एक मशहूर व्यंजन ' लिट्टी-चोखा ' का ज़ायका लेने रुके थे.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption आमिर लिट्टी चोखा की प्लेट लिए ही कार से चले गए

वहाँ एक फुटपाथी दुकानदार ने उन्हें सत्तू भरी लिट्टी और बैंगन का भुरता एक प्लेट में सजाकर दिया.

लिट्टी-चोखा खाते समय आमिर खान अपनी आँखें नचा-नचा कर चारों तरफ़ देख भी रहे थे.

शायद यह जानने के लिए कि 'सरप्राइज' देने के उनके अनोखे अंदाज़ वाले इस प्रचार अभियान का असर हो भी रहा है या नहीं.

तब तक वहाँ मीडियाकर्मी समेत अन्य लोगों की काफी भीड़ जुट चुकी थी.

उधर इस अचानक मिली खुशी से अकबकाया हुआ दूकानदार लिट्टी- चोखा के पैसे लेने में संकोच कर रहा था इतने में आमिर ने उसे पांच सौ रूपए का नोट थमाया और चूँकि एक लिट्टी प्लेट में बची हुई थी, इसलिए प्लेट लेकर वो ये कहते हुए गाड़ी में बैठ गये कि पूरा खाकर ही प्लेट छोडूंगा.

एक अख़बार के दफ़्तर में भी उन्होंने कुछ वक़्त गुज़ारा और फिर बनारस के लिए रवाना होते समय वो पटना के पास मनेर बाज़ार में थोड़ी देर के लिए रुके.

वहाँ उन्होंने मशहूर मिठाई 'मनेर का लड्डू' खाया.

ऑटो रिक्शा चालक मित्र के बेटे की शादी

लड्डू खाते समय उन्होंने अपने आस-पास जमा लोगों से कहा - ''बनारस में अपने एक ऑटो रिक्शा चालक मित्र के बेटे की शादी में शरीक होने जा रहा हूँ. बिहार पहली बार आया और यहाँ लोगों से मिलकर बड़ा मज़ा आया. ''

जिस बनारसी मित्र का ज़िक्र आमिर कर रहे थे, उससे उनकी मुलाकात वहाँ कुछ साल पहले फ़िल्म 'थ्री इडियट्स' के प्रोमोशन के क्रम में हुई थी.

पटना में आमिर खान का यह चौंकाने वाला आगमन इसलिए भी अनोखा रहा, क्योंकि उन्होंने ख़ुद को जन-सामान्य से जोड़ कर एक ख़ास तरह के अपनापन का अहसास किया और कराया.

मीडिया ख़बरों के अनुसार आमिर शाम को ऑटो रिक्शा चालक के बेटे की शादी में बाराती की हैसियत से शामिल हुए.

संबंधित समाचार