सचिन और रेखा राज्यसभा के लिए मनोनीत

 गुरुवार, 26 अप्रैल, 2012 को 18:48 IST तक के समाचार
सचिन, रेखा और अनु आगा

मास्टर ब्लास्टर के नाम से मशहूर क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर अब राज्यसभा के सदस्य होंगे. सरकार की ओर से उन्हें राज्यसभा के लिए मनोनीत किया गया है, जिसका राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने अनुमोदित भी कर दिया है.

सचिन के अलावा फ़िल्म अभिनेत्री रेखा और उद्योगपति और सामाजिक कार्यकर्ता अनु आगा को भी राज्यसभा के लिए मनोनीत किया गया है.

इन तीन लोगों का राज्यसभा के लिए मनोनयन संविधान के अनुच्छेद 80 के तहत किया गया है, जिसके तहत सरकार की अनुशंसा पर राष्ट्रपति को राज्यसभा के 250 सदस्यों में से 12 को मनोनीत करने का अधिकार होता है.

क्लिक करें सदमे में हैं विनोद कांबली

समाज के विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय योगदान देने वाले लोगों को सम्मान स्वरुप राज्यसभा की सदस्यता दी जाती है.

योगदान

39 वर्षीय सचिन तेंदुलकर विगत 21 वर्षों से भारत के लिए क्रिकेट खेल रहे हैं और उन्होंने अपने खेल से भारत को बहुत से गौरव के क्षण दिए हैं.

उनके नाम क्रिकेट के कई रिकॉर्ड हैं. हाल ही में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सौ शतक लगाने का रेकॉर्ड पूरा किया है.

पिछले कुछ समय से उन्हें भारत रत्न देने की मांग भी की जाती रही है लेकिन भारत रत्न दिए जाने से पहले उन्हें राज्यसभा के लिए मनोनीत करने की घोषणा हुई है.

वे पहले खिलाड़ी और क्रिकेटर हैं जो खेलों में सक्रिय रहते हुए राज्यसभा के लिए मनोनीत किए गए हैं.

दक्षिण भारतीय अभिनेत्री रेखा 57 वर्ष की हैं. उन्होंने हिंदी फ़िल्मों में अपने अभिनय की छाप छोड़ी है और कई पुरस्कार जीते हैं. 80 के दशक में हिंदी सिनेमा में उनकी तूती बोलती थी.

"ये अच्छा होगा अगर सचिन राज्यसभा में आए. वो बैंटिंग करेंगे और हम उन पर गुगलियां डालेंगे"

रेणुका चौधरी, कांग्रेस प्रवक्ता

इसी तरह उद्योगपति और सामाजिक कार्यकर्ता अनु आगा को भी समाज में उनके योगदान के लिए मनोनीत किया गया है. वे थर्मेक्स इंडस्ट्रीज़ की चेयरपर्सन हैं.

वे इस समय सोनिया गांधी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय सलाहकार परिषद की सदस्य भी हैं और भारत के सबसे धनी लोगों की फ़ोर्ब्स की सूची में भी आ चुकी हैं.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार प्रधानमंत्री कार्यालय ने बुधवार की रात गृहमंत्रालय को ये नाम भेजे थे और राष्ट्रपति से अनुमोदन लेने के निर्देश दिए थे.

वैसे तो राष्ट्रपति की ओर से मनोनीत सदस्य दलीय आधार पर मनोनीत नहीं होते लेकिन दलबदल कानून को ध्यान में रखते हुए उन्हें छह महीने के भीतर ये सूचना सभापति को देनी होती है अगर वे किसी राजनीतिक दल के साथ अपने आपको संबद्ध करना चाहते हैं.

स्वागत

गुरुवार को ही सचिन तेंदुलकर ने अपनी पत्नी अंजलि के साथ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से उनके आवास दस जनपथ पर मुलाकात की है.

"जब मुझे इस बात के बारे में पता चला तो मुझे झटका लगा. हमने बचपन से अपना वक्त एक साथ गुजारा है, इसलिए मुझे इस बारे में झटका लगा. कुछ दिनों पहले उन्होंने कहा था कि उन्हें क्रिकेट पर ध्यान लगाना है, और किसी चीज़ पर नहीं, और वो भारत के लिए जितना लंबा हो सके, उतना लंबा खेलना चाहेंगे. मुझे पता नहीं कि वो राजनीति और खेल के बीच कैसे सामंजस्य बिठा पाएंगे"

विनोद कांबली

बीसीसीआई के अधिकारी और आईपीएल के अध्यक्ष राजीव शुक्ला भी मुलाकात के दौरान मौजूद थे.

सचिन तेंदुलकर के मनोनयन की ख़बर पर संसद के बाहर प्रतिक्रिया देते हुए सांसद रेणुका चौधरी ने कहा, “ये अच्छा होगा अगर सचिन राज्यसभा में आए. वो बैंटिंग करेंगे और हम उन पर गुगलियां डालेंगे.”

विपक्षी नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा, “अगर सचिन को नामित किया जाता है तो हम चाहेंगे की वो संसद को अपना समय दे. ये एक गंभीर काम है.”

बताया जाता है कि सोनिया गांधी सचिन को शतकों का शतक लगाने पर बधाई देना चाहती थीं.

लेकिन सचिन के बचपन के साथी और क्रिकेटर विनोद कांबली की प्रतिक्रिया कुछ अलग थी.

बीबीसी से उन्होंने कहा, "जब मुझे इस बात के बारे में पता चला तो मुझे झटका लगा. हमने बचपन से अपना वक्त एक साथ गुजारा है, इसलिए मुझे इस बारे में झटका लगा. कुछ दिनों पहले उन्होंने कहा था कि उन्हें क्रिकेट पर ध्यान लगाना है, और किसी चीज़ पर नहीं, और वो भारत के लिए जितना लंबा हो सके, उतना लंबा खेलना चाहेंगे. मुझे पता नहीं कि वो राजनीति और खेल के बीच कैसे सामंजस्य बिठा पाएंगे."

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.