पेट्रोल मूल्यवृद्धि: सोशल मीडिया पर आलोचना

पेट्रोल इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption पेट्रोल की कीमतें बढ़ाए जाने का विपक्ष और सरकार की सहयोगी दलें विरोध कर रहीं है.

देश में पेट्रोल की कीमतें बढ़ाए जाने के फैसले की सोशल मीडिया में तीखी आलोचना हो रही है.

तेल का दाम बढ़ाने के इस फैसले पर विपक्ष समेत खुद सरकार के सहयोगी दल विरोधी स्वर कड़े करते नजर आ रहे हैं.

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर लिखा, “संसदीय सत्र खत्म होने के एक दिन बाद पेट्रोल की कीमतें बढ़ाने का फैसला संसद की गरिमा को नुकसान पहुंचाता है.”

पेट्रोल की मूल्य वृद्धि पर जम्मू और कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने ट्विटर पर चुटकुला शेयर किया है, “पेट्रोल पंप कर्मचारी: साहब कितने का पेट्रोल डालू ? उपभोक्ता: दो-चार रुपए का कार पर छिड़क दो आग लगानी है.”

पेट्रोल मूल्यवृद्धि पर हमारी मुख्य खबर यहां पढ़ें...

प्रतिक्रियाएं

फेसबुक पर बीबीसी हिन्दी के पन्ने पर भी लोगों की टिप्पणियां आने का दौर जारी है.

फेसबुक यूजर पवन कुमार पंकज लिखते है, “जिनके पास पेट्रोल से चलने वाले वाहन है, उनके लिए वृद्धि काफी कष्टकारी साबित होगी.”

एक अन्य प्रयोगकर्ता रामसूरत सिंह ने कहा, “देश विकास की रफ्तार पकड़ रही है इसमे पेट्रोल कैसे पीछे रह सकता है, आज मेरे पास खाने के पैसे नहीं है लेकिन गाड़ी और मोबाइल है.”

यूजर संदीप महतो कहते है, “अब तो सब्जियों के दाम सोने से भी ज्यादा महंगे हो जाएंगे.”

इसके अलावा भी ढ़ेर सारी प्रतिक्रियाएं मिल रही है पेट्रोल की मूल्य वृद्धि पर. अगर आप भी हमें अपनी प्रतिक्रिया भेजना चाहते है तो हमारे फेसबुक पन्ने (http://www.facebook.com/bbchindi) पर आए.

संबंधित समाचार