जगन रेड्डी अदालत में, परिवार भूख हड़ताल पर

जगन मोहन रेड्डी इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption सीबीआई जगन मोहन रेड्डी पर आय से अधिक संपत्ति का आरोप लगाया है

आंध्र प्रदेश में रविवार को गिरफ़्तार किए गए राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री वाईएस राजशेखर रेड्डी के पुत्र और वाईएसआर कांग्रेस के अध्यक्ष जगन मोहन रेड्डी को कड़ी सुरक्षा के बीच सीबीआई की अदालत में पहुंचाया गया है.

आय से अधिक संपत्ति के मामले में सीबीआई ने लगातार तीसरे दिन पूछताछ के बाद कड़प्पा के सांसद जगनमोहन रेड्डी को रविवार शाम सा़ढ़े सात बजे के आस-पास गिरफ़्तार किया गया था. अदालत के आस-पास उनके समर्थकों को रोकने के लिए रास्तों को बंद कर दिया गया है.

अदालत में सुप्रीम कोर्ट के तीन वरिष्ठ वकील जिनमें मुकुल रोहतगी भी शामिल हैं, जगन रेड्डी का बचाव करेंगे.

बंद का आहवान

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption जगन रेड्डी की मां और उनके परिवार के कुछ सदस्य अपने घर पर भूख हड़ताल पर बैठे हैं

जगन रेड्डी के समर्थकों को उम्मीद है कि अदालत उन्हें जमानत पर रिहा कर देगी. सीबीआई अदालत से अनुरोध करने वाली है कि उन्हें और पूछताछ के लिए सीबीआई की हिरासत में दिया जाए.

इस बीच जगन मोहन रेड्डी की वाईएसआर कांग्रेस पार्टी ने सोमवार को राज्य व्यापी बंद का आहवान किया है.

इस आहवान को देखते हुए पूरे राज्य में सुरक्षा के प्रबंध कड़े कर दिए गए हैं.

हैदराबाद में जगन मोहन रेड्डी की मां विजय लक्ष्मी, बहन भारती और पत्नी शर्मिला रविवार रात से भूख हड़ताल पर बैठे हैं. उनके निवास स्थान के बाहर इस भूख हड़ताल कैंप पर समर्थकों की बड़ी भीड़ जुटी है.

इनमें कांग्रेस के दो बागी विधायक और एक लोकसभा सांसद एस हरी भी शामिल हैं.

आरोप

जगन मोहन रेड्डी पर आरोप हैं कि जब उनके पिता वाईएसआर रेड्डी आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री थे तो उनके व्यवसाय में कई कंपनियों ने करोड़ों रुपए का निवेश किया और बदले में उन्हें सरकार की ओर से लाभ पहुँचाया गया.

जगन मोहन रेड्डी पहले कांग्रेस के सांसद थे लेकिन अपने पिता की मौत के बाद जब उन्हें मुख्यमंत्री नहीं बनाया गया तो उन्होंने विद्रोह कर दिया.

बाद में उन्होंने अपनी एक अलग पार्टी बना ली थी और वे राज्य की कांग्रेस सरकार के लिए लगातार परेशानी पैदा करते रहे हैं.

संबंधित समाचार