खुद को बेटी, बहू और भाभी बता कर डिम्पल ने वोट मांगे

डिम्पल यादव इमेज कॉपीरइट pti
Image caption कांग्रेस ने डिम्पल यादव के सामने कोई उम्मीदवार नहीं उतारा है.

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिम्पल यादव ने मंगलवार को धूमधाम से कन्नौज लोकसभा सीट से उपचुनाव के लिए अपना पर्चा दाखिल किया और रिश्तों की दुहाई देते हुए वोट मांगे.

यहां मतदान 24 जून को होगा.

हाल ही में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का पद संभालने के बाद अखिलेश यादव विधान परिषद के सदस्य बन गए. इसलिए उन्हें कन्नौज से लोकसभा सदस्यता से त्यागपत्र देना पड़ा.

डिम्पल यादव ने कन्नौज कलेक्ट्रेट कचहरी में अपना नामांकन दाखिल किया तो मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी के अनेक वरिष्ठ नेता और मंत्री उनके साथ थे.

रिश्तों की दुहाई

बाद में एसएन कॉलेज कन्नौज के मैदान पर रैली की गई जिसमें तेज गरमी के बावजूद बड़ी संख्या मे स्थानीय लोग पहुंचे.

डिम्पल यादव ने अपने भाषण में याद दिलाया कि कन्नौज ने डॉ. लोहिया जैसे महान नेता को लोकसभा में भेजा था. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव भी कन्नौज से सांसद रह चुके हैं.

क्षेत्र की जनता से भावनात्मक संबंध जोड़ते हुए डिम्पल यादव ने कहा, “आपके अनुरोध पर मुझे प्रत्याशी बनाया गया है. मै आपकी बहू, बेटी और बहुतों की भाभी हूँ. मै आपका भरोसा कायम रखूंगी.”

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने याद दिलाया कि कन्नौज के इत्र व्यापारियों की मांगें पूरी की गई हैं. उन्होंने कन्नौज के तेजी से विकास का भरोसा भी दिलाया.

यादव ने पार्टी कार्यकर्ताओं को सावधान किया, “चुनाव आचार संहिता का पूरी तरह पालन करें, क्योंकि पता नही कौन सी साजिश रची जा रही हो.”

कांग्रेसी उम्मीदवार नहीं

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption हाल के विधानसभा चुनावों में स्पष्ट बहुमत के साथ समाजवादी पार्टी ने उत्तर प्रदेश में अपनी सरकार बनाई है.

डिम्पल यादव इससे पहले फिरोजाबाद लोकसभा उपचुनाव में कांग्रेस के राज बब्बर से चुनाव हार गई थीं.

लेकिन कांग्रेस कन्नौज उपचुनाव में उम्मीदवार नही खड़ा कर रही है. कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने स्पष्ट किया है कि सन 2009 के आम चुनाव में कांग्रेस ने कन्नौज में उम्मीदवार नही उतारा था और इस बार भी वह उम्मीदवार नही खड़ा करेगी.

भारतीय जनता पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने भी अभी तक अपने उम्मीदवार घोषित नही किए हैं, हालाकि बुधवार नामांकन की आखिरी तारीख है.

वरिष्ठ पत्रकार सत्यमोहन पांडे का कहना है कि अभी कुछ हफ्ते पहले ही राज्य में समाजवादी पार्टी की सरकार बनी है. लोग आम तौर पर सत्ताधारी दल से जुड़ना चाहते हैं इसलिए कन्नौज में चुनाव एकतरफा लग रहा है.

संबंधित समाचार