रणवीर सेना समर्थकों से प्रतिक्रिया की आशंका

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption रणवीर सेना के प्रमुख ब्रहमेश्वर सिंह की हत्या एक जून को हुई थी

बिहार सरकार को अंदेशा है कि रणवीर सेना के प्रमुख ब्रहमेश्वर सिंह उर्फ मुखिया की हत्या के बाद उनके समर्थक हिंसा पर उतारु हो सकते हैं.

इसीलिए राज्य सरकार ने गुरुवार को मगध प्रमंडल में 'अलर्ट' जारी कर पुलिस को सतर्क रहने को आदेश दिया है.

समाचार एजेंसी आईएएनएस के अनुसार राज्य सरकार को खुफिया सूत्रों से जानकारी मिली है कि रणवीर सेना के समर्थक हिंसक वारदात कर सकते हैं या फिर उपद्रव कर सकते हैं.

राज्य सरकार को आशंका है कि रणवीर सेना के समर्थक पटना, जहानाबाद, अरवल, औरंगाबाद, नवादा और गया जिलों में हिंसा कर सकते हैं.

रणवीर सेना के प्रमुख ब्रहमेश्वर सिंह उर्फ मुखिया की अज्ञात हमलावरों ने एक जून को आरा में गोली मारकर हत्या कर दी थी.

प्रभाव के क्षेत्र

बिहार सरकार ने जिन जिलों में अलर्ट जारी किया है, उनमें रणवीर सेना का काफी प्रभाव रहा है. उन जिलों में कई माओवादी संगठन और सीपीआई (एमएल) लिबरेशन भी वर्ष 2000 तक काफी सक्रिय रहा है.

राज्य पुलिस मुख्यालय में मौजूद अधिकारियों का कहना है कि माओवादियों और लिबरेशन समर्थित इन जिलों के ग्रामीण क्षेत्रों में पुलिस गश्त बढ़ा दी गई है.

एक अधिकारी के अनुसार, ''पुलिस अधिकारियों को रणवीर सेना के नेताओं और कार्यकर्ताओं पर पैनी नजर रखने का निर्देश दिया गया है.''

अधिकारियों का कहना है कि रणवीर सेना और माओवादियों ने सबसे अधिक नरसंहार उन्हीं जिलों में किये थे.

एक पुलिस अधिकारी का कहना है, ''ये सभी जिले काफी संवेदनशील हैं जहां हो सकता है कि रणवीर सेना के समर्थक दलितों और पिछड़ों के खिलाफ हिंसक कार्रवाई को अंजाम दें.''

बिहार सरकार ब्रहमेश्वर सिंह उर्फ मुखिया की एक जून को हुई हत्या की जांच सीबीआई से कराने के लिए तैयार हो गई है. हत्या के बाद हुई व्यापक हिंसा की पड़ताल पांच सदस्यीय एक विशेष जांच दल (एसआईटी) पहले से ही कर रहा है.

संबंधित समाचार