आंध्र प्रदेश उपचुनाव: जगन मोहन की पार्टी की बड़ी जीत

जनग मोहन के समर्थक इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption जगन मोहन समर्थक इस समय जश्न मना रहे हैं

आंध्र प्रदेश में एक लोकसभा सीट और 18 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनावों में जगन मोहन रेड्डी की वाईएसआर कांग्रेस ने बड़ी जीत दर्ज की है.

वाईएसआर कांग्रेस ने 18 में से 15 सीटों पर और साथ ही नेल्लोर लोकसभा सीट पर कब्जा कर लिया है. दो सीटें कांग्रेस को और एक सीट तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीएसआर) को मिली है.

इनमें से 16 सीटें कांग्रेस के पास थीं लेकिन जगन मोहन की पार्टी में चले जाने के कारण विधायकों की सदस्या समाप्त हो गईं थीं. एक सीट प्रजाराज्यम पार्टी के नेता चिरंजीवी के राज्यसभा में चले जाने के कारण रिक्त हुई जबकि एक अन्य सीट पर प्रजाराज्यम की विधायक ने इस्तीफ़ा देकर वाईएसआर कांग्रेस का दामन थाम लिया था.

राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि इसके बाद राज्य में राजनीति बदलेगी और बहुत संभव है कि राज्य की कांग्रेस सरकार के लिए आने वाले दिन भारी गुज़रें.

जगन मोहन रेड्डी कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री वाईएस राजशेखर रेड्डी के बेटे हैं. राजशेखर रेड्डी की मौत के बाद मुख्यमंत्री न बनाए जाने से नाराज़ जगन मोहन ने बगावत करके अपनी पार्टी बना ली थी.

इसके बाद से उनके खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला चल रहा है और सीबीआई ने उन्हें गिरफ़्तार कर रखा है. फिलहाल वे न्यायिक हिरासत में जेल में हैं.

सहानुभूति

कहा जा रहा है कि ऐन चुनाव से पहले जगन मोहन रेड्डी की गिरफ़्तारी कांग्रेस को भारी पड़ी है और ये भारी जीत सहानुभूति का परिणाम है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption जगन मोहन रेड्डी का समर्थन आगे बढ़ने की संभावना है

हालांकि वाईएसआर कांग्रेस के प्रति लोगों की सहानुभूति जगन मोहन की गिरफ़्तारी से पहले भी थी.

कुछ सीटों पर तो रिकॉर्ड मतों से जीत दर्ज हुई है.

नेल्लोर लोकसभा सीट पर भी वाईएसआर कांग्रेस के मेकापति राजमोहन रेड्डी जीत गए हैं.

ये सीट मेकापति राजमोहन रेड्डी के इस्तीफ़े से खाली हुई थी जब वे कांग्रेस छोड़कर वाईएसआर कांग्रेस में चले गए थे.

वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के कार्यालय 45, जुबली हिल्स के बाहर जश्न का माहौल है.

पटाखे फोड़े जा रहे हैं और नारे लगाए जा रहे हैं.

आंध्र में तनाव

वाईएसआर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने निषेधाग्या का उल्लंघन करते हुए रैली निकलने और चंचलगुडा जेल के नज़दीक जमा होने की कोशिश की.

वाईएसआर कांग्रेस के अध्यक्ष जगन मोहन रेड्डी इसी जेल में बंद हैं.

कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए पुलिस और अर्धसैनिक बालों के जवानों तो तैनात कर दिया गया है और जेल की और जाने वाले तमाम रास्तों को बंद कर दिया गया है.

इस बीच पुलिस ने वाईएसआर कांग्रेस के नेता और पूर्व पार्षद अब्दुल रहमान को गिरफ़्तार कर लिया है क्योंकि उन्होंने पार्टी कार्यालय के बाहर जश्न के दौरान अपने रिवॉल्वर से हवा में गोली चल दी थी.

संबंधित समाचार