भारत-पाक के विदेश मंत्री टोक्यो में मिले

इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption पाकिस्तान और भारत के विदेश मंत्री अफ़ग़ानिस्तान पर एक सम्मेलन में हिस्सा लेने टोक्यो में थे

भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच टोक्यो में मुलाक़ात हुई है जिसमें भारत ने पाकिस्तानी ज़मीन से भारत-विरोधी गतिविधियों का मुद्दा उठाया और पाकिस्तान से कहा कि इस बारे में उसे अतिरिक्त ठोस प्रमाण दिए जा चुके हैं.

भारतीय विदेश मंत्री एस एम कृष्णा और पाकिस्तानी विदेश मंत्री हिना रब्बानी खार अफ़गानिस्तान के बारे में टोक्यो में हुए सम्मेलन के दौरान अलग से मिले

लगभग आधे घंटे की मुलाक़ात में भारतीय मंत्री ने पाकिस्तानी मंत्री से भारत के ख़िलाफ़ चरमपंथी गतिविधघियों पर लगाम लगाने के वास्ते क़दम उठाने के लिए कहा.

भारत ने इस मुलाक़ात में पाकिस्तान पर मुंबई हमले के बारे में कार्रवाई करने के लिए दबाव बढ़ाते हुए कहा कि संबंधों में सहजता आतंक मुक्त वातावरण में ही हो सकती है.

एस एम कृष्णा ने मुंबई हमले के सिलसिले में कार्रवाई की ज़रूरत को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि भारत सरकार ने हमले में लिप्त लोगों के बारे में पहले ही पर्याप्त सबूत दे दिए हैं.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने आधिकारिक सूत्रों के हवाले से ये भी कहा है कि भारत ने मुलाक़ात में लश्करे तय्यबा के संस्थापक हाफ़िज़ सईद के भारत विरोधी बयानों का भी मुद्दा उठाया. साथ ही पाकिस्तान में मौत की सज़ा सुनाए गए भारतीय नागरिक सरबजीत सिंह और अन्य भारतीय क़ैदियों की रिहाई का भी मुद्दा उठा.

पीटीआई के अनुसार दोनों मंत्रियों ने एक सद्भावनापूर्ण माहौल में स्पष्ट और रचनात्मक वार्ता की जिसमें दो दिन पहले दिल्ली में हुई विदेश सचिव स्तर की वार्ता के परिणाम के बारे में भी एक-दूसरे से विचार साझा किए गए.

दो दिन पहले भारतीय विदेश सचिव रंजन मथाई ने पाकिस्तानी विदेश सचिव जलील अब्बास जिलानी के साथ लश्करे तैबा चरमपंथी ज़बीउद्दीन अंसारी उर्फ़ अबू जुंदल से मिली जानकारियों के बारे में बात की थी.

बताया जा रहा है कि अंसारी ने भारतीय अधिकारियों को बताया है कि वो और हाफ़िज़ मोहम्मद सईद मुंबई हमलों के समय पाकिस्तान में एक कंट्रोल रूम में थे.

हालाँकि पाकिस्तानी विदेश सचिव ने मुंबई हमले में पाकिस्तानी अधिकारियों की किसी भी तरह की भूमिका होने से इनकार किया है.

26 नवंबर 2008 को मुंबई में हुए चरमपंथी हमलों में 166 लोग मारे गए थे.

संबंधित समाचार