कलमाडी को ओलंपिक में जाने की इजाजत नहीं

इमेज कॉपीरइट AFP

दिल्ली हाई कोर्ट ने सुरेश कलमाडी को लंदन ओलपिंक 2012 में भाग लेने की इजाजत देने से इनकार कर दिया है. कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि वो 27 जुलाई तक देश से बाहर नहीं जा सकते.

दिल्ली हाई कोर्ट के कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश एके सिकरी और राजीव सहाय इंडलॉ ने अपने आदेश में कहा है कि अगर वो ओलपिंक खेल में हिस्सा लेते हैं तो इससे देश 'असहज' महसूस करेगा.

सुरेश कलमाडी ने दिल्ली हाई कोर्ट में अपील दायर करके मांग की थी कि उन्हें लंदन ओलपिंक के दौरान मीटिंग में भाग लेना है, इसलिए उन्हें देश से बाहर जाने की इजाजत दी जाए.

सुरेश कलमाडी को भ्रष्टाचार के आरोप में पहले ही कॉमनवेल्थ गेम के आयोजन समिति से निलंबित कर दिया गया था.

हालांकि वे अभी भी भारतीय ओलंपिक समिति के पदाधिकारी हैं.

'राष्ट्र हित में'

हाई कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है, "हमने राष्ट्र हित के आधार पर इस मामले को देखा और हमने निर्णय किया कि उन्हें ओलपिंक खेल के उद्धाटन समारोह में हिस्सा नहीं लेना चाहिए."

कोर्ट ने आगे कहा,"ओलपिंक खेल में उनके हिस्सा लेने से देश को असहजता का एहसास होगा." न्यायालय का कहना था, "राष्ट्र हित हमारे लिए सबसे अहम है."

उद्धाटन समारोह के बाद कलमाडी को ओलपिंक में शामिल होना चाहिए या नहीं, यह बात कोर्ट ने अंतराष्ट्रीय एथलिट फेडरेशन (एआईआईएफ) के उपर छोड़ दिया.

कोर्ट ने कहा कि अआईआईएफ कोर्ट का निर्णय पढ़ने के बाद, जो भी फैसला लेना चाहे, वो ले सकता है.

संबंधित समाचार