अन्ना के अनशन के छठे दिन जुटी बड़ी भीड़

इमेज कॉपीरइट PTI
Image caption अन्ना के अनशन के दूसरे दिन भीड़ बढ़ी है

दिल्ली के जंतर मंतर पर अन्ना हजारे के नेतृत्व में अनशन पर बैठे टीम अन्ना ने उत्तर भारत में पावर ग्रिड फेल हो जाने को सरकार की 'साजिश' करार दिया है.

रविवार की मध्य रात से उत्तर भारत के सात राज्यों में पावर ग्रिड के फेल हो जाने पर टीम अन्ना के सदस्य संजय सिंह ने सरकार पर आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि एनसीआर दिल्ली सहित छह राज्यों में रात से ही बिजली गुल होने के लिए सरकार जवाबदेह है.

टीम अन्ना के सदस्य संजय सिंह का आरोप था कि लोगों को अन्ना के अनशन में शिरकत न करने देने के लिए सरकार ने बिजली गुल कर दी.

दूसरी तरफ अन्ना हजारे ने अपने अनशन के दूसरे दिन प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए कहा, “जिस तरह पूरे देश में भ्रष्टाचार के खिलाफ माहौल बन रहा है, मुझे लगता है कि सरकार को मजबूत लोकपाल बिल लाना पड़ेगा या फिर उसे गद्दी छोड़नी पड़ेगी.”

रविवार को टीम अन्ना के वरिष्ठ सदस्य अरविंद केजरीवाल ने कहा था, “हम कॉलेज के युवाओं का आह्वान करते हैं कि वे अपनी कक्षाओं से एक सप्ताह की छुट्टी लेकर देश के लिए सड़कों पर उतरें.”

शनिवार को अन्ना समर्थकों ने प्रधानमंत्री निवास पर प्रदर्शन किया था और दीवार पर वहां की दीवारों पर लिखकर गंदा कर दिया था.

रविवार को अन्ना हजारे ने प्रधानमंत्री आवास के बाहर विरोध प्रदर्शन पर बचाव में आ गए थे. लेकिन उन्होंने यह भी कहा था कि यह लोगों के गुस्से का परिणाम है. फिर भी, अन्ना हजार ने प्रधानमंत्री आवास पर दीवार को गंदा किये जाने की घटना के लिए खेद प्रकट किया.

अन्ना हजारे सरकार को चेतावनी देते हुए उपस्थित जनसमूह को कहा, “लोग कब तक बर्दाश्त करेंगे लेकिन जैसा कुछ हुआ (दीवार गंदा करना), उसके लिए मैं खेद प्रकट करता हूं. दीवार पर लिखे गए नारे निचले स्तर के है. हमें ऐसा कदम उठाने से पहले सोचना चाहिए क्योंकि लोग हमारे कार्यो को देख रहे हैं.”

शनिवार को काफी संख्या में लोग सात रेसकोर्स स्थित प्रधानमंत्री कार्यालय के समक्ष विरोध प्रदर्शन करने जुटे थे और परिसर में कोयले का टुकड़ा फेंका.

हालांकि सोमवार को कृषि मंत्री शरद पवार के आवास पर फिर से अन्ना समर्थकों ने प्रदर्शन किया जिन्हें बाद में पुलिस उठाकर ले गई.

टीम अन्ना के समर्थकों ने मजबूत लोकपाल के लिए अनशन पर बैठे अन्ना हजारे के अनिश्चितकालीन उपवास के समर्थन में रविवार को उनके उपवास स्थल जंतर-मंतर से इंडिया गेट तक मार्च किया.

दिनभर भीड़ का जत्थों में आना जारी रहा और समर्थकों ने तिरंगा झंडा लेकर ‘भारत माता की जय’, ‘वंदे मातरम’ के जमकर नारे लगाए.

संबंधित समाचार