तोड़फोड़ की आशंका से इनकार नहीं कर रहे रेल मंत्री

भारतीय रेल इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption जिस डिब्बे में आग लगी उसमें 72 लोग सवार थे (फाइल फोटो)

केंद्रीय रेल मंत्री मुकुल रॉय ने कहा है कि दिल्ली से चेन्नई जा रही तमिलनाडु एक्सप्रेस में लगी आग के पीछे तोड़फोड़ की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता.

कोलकाता में मुकुल रॉय का कहना था, '' कुछ घायलों ने और एक गेटमैन ने भी माना है कि उन्होंने एक ज़ोरदार आवाज़ सुनी थी नेल्लोर स्टेशन से आगे की क्रासिंग के पास जिसके बाद आग लगी.''

यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें शक है कि इस घटना के पीछे कोई साजिश है तो उनका कहना था कि वो किसी भी आशंका से इनकार नहीं कर रहे हैं.

उन्होंने कहा, '' किसी भी आशंका को खारिज नहीं कर सकते.जांच के बाद ही पता चलेगा. यह जांच करना होगा कि डिब्बे में कोई ज्वलनशील पदार्थ था जिसके कारण आग लगी या कोई और कारण था.''

दिल्ली से चेन्नई जा रही तमिलनाडु एक्सप्रेस के एक डिब्बे में सोमवार तड़के आग लग जाने से ये हादसा हुआ.

यह दुर्घटना उस समय हुई जब रेलगाड़ी आंध्र प्रदेश में नेल्लोर स्टेशन से निकल रही थी.

पहले डिविजनल रेलवे मैनेजर अनिल कुमार ने इस हादसे में 47 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की थी लेकिन बाद में रेलवे की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि हादसे में 32 लोगों की मौत हुई है और 25 घायल हुए हैं.

नेल्लोर के जिला कलेक्टर बी श्रीधर ने बताया कि संभवतः इलेक्ट्रिक शॉर्ट सर्किट के करण ये आग लगी. जिस डिब्बे में आग लगी उसमें 70 से ज्यादा लोग सवार थे.

राहत और बचाव कार्य शुरू

जब रेलगाड़ी नेल्लोर स्टेशन से निकल रही थी, तब वहां रेलवे कर्मियों ने आग लगती देखी और उन्होंने ट्रेन को तुरंत ही रोक लिया गया और दमकल गाड़ियों को बुलाया गया. लेकिन तब तक एक डिब्बा पूरी तरह आग की चपेट में आ चुका था.

आग को दूसरे डिब्बों तक फैलने से रोकने के लिए इस डिब्बे को ट्रेन से काट कर अलग कर दिया है.

जिला कलेक्टर और जिला एसपी सहित कई अधिकारी के अलावा राहत और बचावकर्मी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं. घायलों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

संबंधित समाचार