मोदी ने हैंगआउट पर की धर्मनिर्पेक्षता की वकालत

 शनिवार, 1 सितंबर, 2012 को 13:05 IST तक के समाचार

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार रात को गूगल प्लस पर हैंगआउट सेशन किया.

इस हैंगआउट सेशन की मेजबानी की अभिनेता अजय देवगन ने. ये सेशन रात आठ बजे शुरु होना था लेकिन करीब 45 मिनट की देर सी शुरु हुआ क्योंकि बताया गया कि ज्यादा ट्रैफिक यानी ज्यादा लोगों के इंटरनेट पर आने से सिस्टम क्रैश कर गया था. लोगों को सवाल सेशन से पहले ही बताने थे.

"मेरे लिए धर्मनिर्पेक्षता का मतलब है कि हमारे लिए भारत सबसे पहली प्राथमिकता होनी चाहिए. जब पाकिस्तान और बांग्लादेश भारत का हिस्सा थे, वहाँ धर्मनिर्पेक्षता की समस्या नहीं थी. वोट बैंक की राजनीति ने हमारी धर्मनिर्पेक्षता की नीति को खोखला कर दिया है."

नरेंद्र मोदी

लोगों ने कई विषयों पर नरेंद्र मोदी से सवाल पूछे जिनमें राजनीतिक रूप से संवेदनशील मुद्दों पर सवाल शामिल नहीं दिखे.

गुडगांव के पवन कुमार कौशल ने युवाओं की भूमिका पर सवाल पूछा जब मोदी ने कहा कि अगर युवाओं की शक्ति का ठीक से इस्तेमाल किया जाए तो भारत को बहुत फायदा होगा.

लंदन से एक व्यक्ति ने मोदी से धर्मनिर्पेक्षता को परिभाषित करने के लिए कहा. इस पर मोदी का जवाब था, "मेरे लिए धर्मनिर्पेक्षता का मतलब है कि हमारे लिए भारत सबसे पहली प्राथमिकता होनी चाहिए. जब पाकिस्तान और बांग्लादेश भारत का हिस्सा थे, वहाँ धर्मनिर्पेक्षता की समस्या नहीं थी. वोट बैंक की राजनीति ने हमारी धर्मनिर्पेक्षता की नीति को खोखला कर दिया है."

एक सवाल था कि आज का युवा राजनीति में शामिल होना क्यों नहीं चाहता. इस पर मोदी ने कहा," राजनीति अपने आप में खराब नहीं है लेकिन देश निर्माण में अगर युवाओं को शामिल नहीं किया गया इससे युवा राजनीति से दूर हो गए. जातिवाद, माफिया और परिवारवाद के कारण भी युवा राजनीति से दूर हो गए."

चर्चा के दौरान अजय देगवन ने बताया कि जब उनसे मोदी के सेशन की मेजबानी करने के लिए कहा गया था उन्होंने तुरंत हाँ कर दी थी.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.