एक महिला, छह पति...क्या है माजरा?

 सोमवार, 3 सितंबर, 2012 को 15:24 IST तक के समाचार
महिला

कई दिनों से पुलिस को इस महिला की तलाश थी (पीटीआई फोटो)

मिलिए एक 25 वर्षीय महिला से जिस पर बिना तलाक लिए कई पुरुषों से शादी करने, उन्हें ठगने और फिर रफूचक्कर हो जाने का आरोप है. उनके 'शिकार' हुए लोगों में फुटबॉल खिलाड़ी से लेकर कला निर्देशक तक शामिल हैं.

कई दिनों से पुलिस उनकी खोज कर रही थी और भारत के दक्षिणी राज्यों में वे चर्चा का विषय बनी हुई थीं. कई चैनलों में तो बढ़ा-चढ़ाकर यहां तक दिखाया जा रहा था कि उन्होनें 100 के करीब शादियां की हैं, हालाँकि पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की है.

फिलहाल बंगलौर में तमिलनाडु पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद शहनाज़ नाम की यह महिला चेन्नई जेल में न्यायिक हिरासत में हैं.

चेन्नई पुलिस के सहायक आयुक्त मोहन राज (एसीपी) ने बीबीसी को बताया कि इस महिला के खिलाफ चेन्नई से अब तक छह शिकायतें मिली हैं.

न्यायिक हिरासत

एसीपी मोहन राज

"इसका ध्यान रखने वाला कोई नहीं था. इसलिए वो शादी कर लेती थी और जब शादी चलती नहीं थी तो उसे छोड़ कर वो नया पति ढूँढ लेती थी."

उन्होंने बताया कि उन्हें बैंगलोर से गिरफ्तार किया गया है और 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है.

यह पूछे जाने पर कि आखिर वो ऐसा क्यों करती थीं, मोहन राज ने बताया, ''इनका ध्यान रखने वाला कोई नहीं था. इसलिए वो शादी कर लेती थीं और जब शादी चलती नहीं थी तो उसे पति को छोड़ कर वो नया पति ढूँढ लेती थीं.''

एक शिकायत के मुताबिक उन्होंने चेन्नई के एक मोटर मिकैनिक से शादी की. खास बात यह थी कि व्यक्ति हिंदू था और अपने घर वालों के खिलाफ जा कर उसने यह शादी की थी.

पुलिस ने बताया कि शहनाज मूल रूप से केरल के पतनम्थिट्टा जिले की रहने वाली हैं. वह वहां सिद्दीक नाम के एक शख्स के साथ रहती थीं लेकिन उससे मतभेद के बाद वह तमिलनाडु के तिरुचिरापल्ली आ गईं जहां उन्होंने एक कला निर्देशक से शादी कर ली.

एसीपी मोहन राज ने बताया कि हालांकि उस पर पूर्व पतियों ने ठगी करने का भी आरोप लगाया है लेकिन इस मामले में बहुत बड़ी रकम शामिल नहीं हैं और वो लगभग एक लाख से कुछ अधिक है.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.