श्रीलंकाई नागरिकों कि सुरक्षा पर भारत प्रतिबद्ध

 मंगलवार, 4 सितंबर, 2012 को 18:21 IST तक के समाचार
चेन्नई

श्रीलंका के खिलाफ चेन्नई में प्रदर्शन की फाइल फोटो

भारत ने श्रीलंका को भरोसा दिलाया हैं कि श्रीलंकाई नागरिकों की सुरक्षा को सुनिश्चत करने के लिए भारत प्रतिबद्ध है.

श्रीलंका सरकार द्वारा जारी की गई यात्रा चेतावनी पर जब भारतीय विदेश मंत्रालय से प्रतिक्रिया मांगी गई तो विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, “मैं यहां बता देना चाहता हूं कि संबंधित राज्य सरकार के साथ मिलकर भारत सरकार ने श्रीलंकाई नागरिकों के सुरक्षा के लिए हर संभव कदम उठाया है और भविष्य में भी श्रीलंकाई नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाएगी, जिसमें तमिलनाडु भी शामिल है.”

हाल की में हुई कुछ घटनाओं के बारे में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, “कुछ मामलों में देखा गया हैं कि महत्वपूर्ण यात्राएं स्थानीय अधिकारियों को पूर्व सूचित किए बिना की गई थी.”

प्रवक्ता ने आपसी रिश्तों पर ज़ोर देते हुए कहा, “मैं यहां पर ज़ोर देकर कहना चाहता हूं कि भारत और श्रीलंका के लोगों के बीच आपसी संपर्क दोनो देशों के करीबी ऐतिहासिक, सामाजिक और सांसकृतिक रिश्तों का उटूट हिस्सा है.”

श्रीलंकाई चेतावी

इससे पहले श्रीलंका ने अपने नागरिकों को तमिलनाडु न जाने की सलाह दी थी. श्रीलंका की सरकार के मुताबिक़ तमिलनाडु में 'श्रीलंकाई नागरिकों को धमकाने की बढ़ती घटनाओं' के चलते उसने ऐसा किया.

विदेश मंत्रालय की ओर से सोमवार को जारी किए गए बयान में कहा गया, ''श्रीलंका की सरकार को पर्यटन, तीर्थयात्रा, खेल, सांस्कृतिक और व्यावसायिक दौरों पर तमिलनाडु जाने वाले नागरिकों को धमकाने की बढ़ती हुई घटनाओं पर खेद है.''

बयान में कहा गया कि सुरक्षा कारणों के चलते श्रीलंका सरकार अपने नागरिकों से यह कहने पर विवश है कि वो तमिलनाडु न जाएं.

बयान में यह भी कहा गया कि अगर किसी के तमिलनाडु जाने के ठोस कारण है, तो वे वहां जाने से पहले चेन्नई में उप उच्चायोग को सूचित करें.

घेराव

श्रीलंका ने कहा कि थंजावुर के पूर्णामठ चर्च में जाने वाले श्रीलंका के 184 तीर्थ यात्रियों को घेरा गया था और उन्होंने चर्च में शरण ली थी.

इससे पहले तनाव तब बढ़ गया था जब तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता ने श्रीलंका की फुटबॉल टीम को वापस भेजने का आदेश दिया था.

उन्होंने राज्य के एक अधिकारी को श्रीलंका टीम को चेन्नई में दोस्ताना मैच खेलने की अनुमति देने के लिए निलंबित भी किया था.

उन्होंने श्रीलंका के फौजियों को भारत में प्रशिक्षण देने का भी यह कह कर विरोध किया था कि उनकी सेना ने तमिलों के खिलाफ युद्ध अपराध किए थे.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.