कौशिक बसु विश्व बैंक के मुख्य अर्थशास्त्री बने

 गुरुवार, 6 सितंबर, 2012 को 10:25 IST तक के समाचार
कौशिक बसु

अपने कुछ बयानों को लेकर कौशिक बुस सुर्खियों में रहे हैं.

भारत के कौशिक बसु को विश्व बैंक का मुख्य अर्थशास्त्री और वरिष्ठ उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है.

भारतीय वित्त मंत्रालय में मुख्य आर्थिक सलाहकार रहे बसु अमरीका के कॉरनेल विश्वविद्यालय में प्रोफेसर भी रह चुके हैं.

विश्व बैंक के प्रमुख जिम योंग किम ने एक बयान में कहा है, “वित्त मंत्रालय में काम करने के अलावा कौशिक बसु की अकादमिक उपलब्धियां भी प्रभावशाली रही हैं. वे हमारे ग्राहक देशों को प्रमाण-आधारित समाधान और सलाह मुहैया कराने में हमारी मदद करने के लिए बिल्कुल उपयुक्त हैं और वो हमारे विकास शोध में भी अहम योगदान देंगे.”

बसु ने 'लंदन स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स' से पीएचडी की और 1992 में 'डेल्ही स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स' में 'सेंटर फॉर डेवेलपमेंट इकनॉमिक्स' की स्थापना की. इसके अलावा विकास अर्थव्यवस्था, कल्याणकारी अर्थव्यवस्था, औद्योगिक संगठन और सार्वजनिक अर्थव्यवस्था पर उनके बहुत से लेख प्रकाशित हुए हैं.

सुर्खियों में रहे बसु

"वित्त मंत्रालय में काम करने के अलावा कौशिक बसु की अकादमिक उपलब्धियां भी प्रभावशाली रही हैं. वे हमारे ग्राहक देशों को प्रमाण-आधारित समाधान और सलाह मुहैया कराने में हमारी मदद करने के लिए बिल्कुल उपयुक्त हैं और वो हमारे विकास शोध में भी अहम योगदान देंगे."

वर्ल्ड बैंक के प्रमुख

अप्रैल में बसु के इस बयान की खासी चर्चा रही कि भारत में आर्थिक सुधार बाधित होंगे और 2014 से पहले इस दिशा में किसी प्रगति की उम्मीद नहीं है.

बाद में बसु ने कहा कि उनका बयान 2014 में संभावित यूरोपीय संकट की पृष्ठभूमि में दिया गया था और इसका भारत के आम चुनावों से कोई लेना देना नहीं है, जैसा कि भारतीय मीडिया में कहा गया.

बाद में उन्होंने कहा कि भारत में अगले छह महीनों में ‘कुछ अहम सुधार’ होंगे जिनमें सब्सिडी और खुदरा क्षेत्र में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश भी शामिल है.

इससे पहले योजना आयोग के उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलूविया भी विश्व बैंक से जुड़े रहे हैं. उन्होंने 1968 में युवा पेशेवर के तौर पर विश्व बैंक में काम शुरू किया और बाद में वो आय वितरण विभाग के प्रमुख समेत कई पदों पर रहे.

इसके अलावा कल्पना कोचर इस समय विश्व बैंक में दक्षिण एशिया क्षेत्र के लिए मुख्य अर्थशास्त्री के तौर पर काम कर रही हैं.

इससे जुड़ी और सामग्रियाँ

इसी विषय पर और पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.