'दाढ़ी' वाले थे जनरल बरार के हमलावर

 मंगलवार, 2 अक्तूबर, 2012 को 15:33 IST तक के समाचार
 बरार

अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में छिपे चरमपंथियों के खिलाफ चलाए गए ऑपरेशन ब्लू स्टार का बरार ने नेतृत्व किया था.

ऑपरेशन ब्लू स्टार से जुड़े क्लिक करें लेफ्टिनेंट जनरल केएस बरार का कहना है कि लंदन में उन पर हुए हमले ‘खालिस्तान समर्थकों द्वारा हत्या के इरादे से’ किए गए.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने जनरल बरार के हवाले से बताया कि ‘खालिस्तान समर्थकों ने 1984 में हुए आपरेशन ब्लू स्टार में उनकी भूमिका के चलते उनपर हमला किया.

रविवार रात हुए इस हमले में चार लोग शामिल थे, जिनमें से तीन के साथ जनरल बरार की हाथापाई भी हुई. हमले के दौरान उनकी गर्दन पर चोट आई है और प्राथमिक चिकित्सा के बाद उन्हें अस्पताल से छु़ट्टी दे दी गई.

'हमलावरों की लंबी दाढ़ी’

"ये पूरी तरह से मेरी हत्या का प्रयास था. इंटरनेट पर भी मुझे कई तरह की धमकियां मिलती रही हैं, लेकिन कभी किसी को मुझे मारने में सफलता नहीं मिली. यहां तक कि हर साल छह जून को ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी पर कट्टरपंथी सिख संगठन जुलूस निकालते हैं और मुझे मारने की कसम खाते हैं."

लेफ्टिनेंट जनरल केएस बरार

हमले के बाद एक टेलीविज़न चैनल से बातचीत में जनरल बरार ने कहा, ''ये पूरी तरह से मेरी हत्या का प्रयास था. इंटरनेट पर भी मुझे कई तरह की धमकियां मिल रही हैं, लेकिन कभी किसी को सफलता नहीं मिली. हर साल छह जून को, जो ऑपरेशन ब्लू स्टार की बरसी है, कट्टरपंथी सिख संगठन जुलूस निकालते हैं और मुझे मारने की कसम खाते हैं.''

इस बीच स्कॉटलैंड यार्ड ने इस हमले को लेकर दी गई जानकारी में कहा है कि चारों हमलावरों ने गहरे रंग के कपड़े पहन रखे थे और उनकी ‘लंबी दाढ़ी’ थी.

इस मामले में अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं की गई है.

रविवार को भारतीय उच्चायोग ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया था कि जनरल बरार एक निजी दौरे पर लंदन आए थे. अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में छिपे चरमपंथियों के खिलाफ चलाए गए ऑपरेशन ब्लू स्टार का बरार ने नेतृत्व किया था.

जरनैल सिंह भिंडरावाला के नेतृत्व में चरमपंथी सिखों के लिए एक अलग राज्य खालिस्तान की मांग कर रहे थे. इस अभियान में भिंडरवाला मारे गए थे.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.