संसद मार्ग अगला तहरीर चौक बनेगा: केजरीवाल

  • 13 अक्तूबर 2012

भ्रष्टाचार के कई मोर्चों पर सरकार को घेरने की पुरजोर कोशिश कर रहे अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली स्थित संसद मार्ग थाना अगला तहरीर चौक साबित होगा.

ट्विटर के जरिए भेजे अपने संदेशों में केजरीवाल ने युवाओं का आह्वान करते हुए लिखा है- 'कहां हैं मेरे देश के शेर, बाहर निकलो.'

केजरीवाल ने कहा है, ''इस भ्रष्ट शासन को उखाड़ फेंको. भगत सिंह ने इस देश के लिए अपनी जान दी. सुभाष चंद्र बोस ने अपना जीवन और करियर समर्पित कर दिया. आप क्या करेंगे?''

केजरीवाल के आरोप

Image caption केजरीवाल और उनके समर्थक केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद के इस्तीफ़े की मांग कर रहे हैं

कथित भ्रष्टाचार के आरोप में घिरे केंद्रीय कानून मंत्री सलमान खुर्शीद के इस्तीफे की मांग करते हुए प्रधानमंत्री निवास की ओर जाने की ज़िद करने पर शुक्रवार को हिरासत में लिए गए अरविंद केजरीवाल और उनके साथियों को शनिवार की सुबह रिहा कर दिया गया.

रिहा होने के बाद केजरीवाल अपने साथियों के साथ सीधे संसद मार्ग पहुंचे और कहा कि वे उस समय तक धरने पर बैठे रहेंगे जब तक केंद्रीय क़ानून मंत्री सलमान ख़ुर्शीद इस्तीफ़ा नहीं देते.

उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि वे अधिक से अधिक संख्या में संसद मार्ग पर आए और उनके साथ धरने पर बैठें.

संसद मार्ग पहुंचने के बाद अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए सलमान ख़ुर्शीद को निशाना बनाते हुए केजरीवाल ने कहा कि सलमान खुर्शीद की पत्नी के ट्रस्ट से विकलांगों के लिए कोई सामान वितरित नहीं किया गया, बल्कि अधिकारियों के फ़र्ज़ी दस्तख़त करके सरकारी पैसे को लूट लिया गया.

केजरीवाल के अनुसार ट्रस्ट ने 17 में से 10 ज़िलों में कोई सामान नहीं बांटा.

लुई खुर्शीद का जवाब

लेकिन केजरीवाल के तमाम आरोपों को ख़ारिज करते हुए सलमान ख़ुर्शीद की पत्नी ने एक निजी चैनल से बातचीत के दौरान कहा कि उनके ट्रस्ट ने किसी तरह का कोई घपला नहीं किया है.

लुई ने कहा कि केजरीवाल ऑडिट रिपोर्ट को सीएजी की रिपोर्ट बता रहें हैं जो कि तथ्यात्मक दृष्टि से बिल्कुल ग़लत है.

जनलोकपाल के सहारे राजनीति की राह पकड़ने वाले कार्यकर्ता अरविंद केजरीवाल केंद्रीय कानून मंत्री सलमान खुर्शीद के इस्‍तीफे की मांग कर रहे हैं और उन्होंने शुक्रवार सुबह प्रधानमंत्री के निवास की ओर मार्च शुरू किया था.

प्रधानमंत्री निवास की ओर उनके मार्च को बीच में ही रोक दिया गया जिसके बाद केजरीवाल अपने समर्थकों के साथ जनपथ पर धरना देकर बैठ गए.

दोपहर बाद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया और गोपाल राय को हिरासत में ले लिया गया.

एक टीवी चैनल पर दिखाया गया था कि एक एनजीओ के द्वारा लाखों का घोटाला किया गया है और उसमें ख़ुर्शीद की कथित भूमिका पर भी सवाल उठाए गए थे जिसके बाद केजरीवाल ले इस मामले की जांच की और खुर्शीद के इस्तीफ़े की भी मांग की है.

चैनल ने आरोप लगाया है कि खुर्शीद और उनकी पत्नी लुईस खुर्शीद ने एनजीओ के जरिए विकलांग लोगों के लिए पैसे का दुरुपयोग किया है.

नहीं मिले पीएम

केजरीवाल ने इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री से मुलाक़ात का समय मांगा था लेकिन समाचार एजेंसी पीटीआई ने प्रधानमंत्री कार्यालय के हवाले से बताया था कि प्रधानमंत्री का कार्यक्रम एक दिन पहले ही बन जाता है और उनके पास शुक्रवार को मिलने का वक्त नहीं है.

इसके बाद शुक्रवार सुबह अरविंद केजरीवाल और उनके समर्थक पीएम आवास की तरफ बढ़े लेकिन भारी सुरक्षा की वजह से ज्यादा दूर नहीं जा सके और जनपथ पर धरना दे दिया. बाद में पुलिस ने इन कार्यकर्ताओं को वहां से उठाया और हिरासत में ले लिया गया.

केजरीवाल ने कहा कि खुर्शीद और उनकी पत्नी ताकतवर लोग हैं और सबूतों के साथ छेड़खानी कर सकते हैं इसलिए दोनों को गिरफ्तार कर लेना चाहिए.

सलमान खुर्शीद ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा है कि वो अदालत में और लोगों के सामने भी इस मामले की सीधी लड़ाई लड़ने के लिए तैयार हैं.

इससे पहले अरविंद केजरीवाल, प्रशांत भूषण और उनके पिता शांति भूषण ने पिछले सप्ताह दिल्ली में हुई एक पत्रकारवार्ता में कुछ दस्तावेज़ पेश करते हुए आरोप लगाया था कि उत्तर भारत के एक बड़े रियल एस्टेट डेवलपर डीएलएफ़ समूह ने गलत तरीकों से कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा को 300 करोड़ रुपयों की संपत्तियाँ कौड़ियों के दामों में दे दीं.

इसके बाद कांग्रेस ने पूरा ज़ोर लगाकर इन आरोपों को ख़ारिज किया था.

संबंधित समाचार