मधुबनी हिंसा में एक और युवक की मौत

  • 14 अक्तूबर 2012
मधुबनी हिंसा
Image caption राज्य सरकार ने मधुबनी में भड़की हिंसा के न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं

बिहार के मधुबनी में हुई हिंसा में मरनेवालों की संख्या दो हो गई है. शनिवार को जयनगर में हुई पुलिस फायरिंग में बुरी तरह ज़ख्मी हुए तीन लोगों में से एक 24 वर्षीय युवक की रविवार को अस्पताल में मौत हो गई.

गुस्साई भीड़ ने जयनगर रेलवे स्टेशन में तोड़फोड़ की थी और कई सरकारी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया था.

राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बक्सर और भोजपुर की अपनी 'अधिकार यात्रा' स्थगित करनी पड़ी है. कारण है कि उनकी अधिकार यात्रा के दौरान जनसभाओं में विरोध प्रदर्शन का सिलसिला थम नहीं रहा था.

पुलिस को आशंका थी कि आरा और बक्सर की सभा में हंगामा हो सकता है. इसलिए मुख्यमंत्री ने वहां की यात्रा स्थगित कर दी. लेकिन सरकारी तौर पर ये बताया गया कि मधुबनी में हुए उपद्रव को लेकर स्थिति पर नज़र रखने के लिए मुख्यमंत्री का राजधानी पटना में रहना ज़रुरी समझा गया.

बिहार बंद

मधुबनी गोलीकांड को लेकर बिहार के विपक्षी दलों ने सोमवार को राज्य व्यापी बंद का आहवान किया है.

इस बीच राज्य सरकार ने मधुबनी गोलीकांड की न्यायिक जांच कराने का फैसला किया है और सम्बंधित क्षेत्र के डीएम, एसपी और आईजी का तबादला कर दिया गया है.

उधर प्रशांत नाम के मृत छात्र का शव उनके परिजन को पुलिस ने शनिवार को सौप दिया. कथित प्रेम संबंध में एक स्कूली छात्रा के साथ घर से भागे प्रशांत का सिर कटा हुआ शव पुलिस ने बरामद किया था.

आरोप है कि स्थानीय पुलिस प्रशासन प्रशांत की हत्या में संलिप्त लड़की वालों को बचाने और लड़के के परिवार वालों को प्रताड़ित करने जैसी पक्षपातपूर्ण कार्रवाई कर रहा था. इसी कारण जनाक्रोश भड़क उठा.

संबंधित समाचार