मधुबनी में बवाल की जड़ बना लड़का दिल्ली में मिला

बिहार में हिंसा (फ़ाइल फ़ोटो)
Image caption बिहार पुलिस को अभी पता नहीं कि जिसका अंतिम संस्कार किया गया वह युवक कौन था

बिहार के मधुबनी में प्रशांत नाम के जिस लड़के की कथित हत्या और शव को लेकर हाल ही भारी बावेला मचा, वह दिल्ली के महरौली में मिल गया है.

राज्य के पुलिस महानिदेशक अभयानंद ने पटना में पत्रकारों को बताया कि सोमवार दोपहर बाद प्रशांत को उसी लड़की के साथ देखा गया, जिसके साथ एक महीना पहले वह मधुबनी से लापता हुआ था.

पुलिस महानिदेशक के मुताबिक दोनों को बिहार के ही किसी व्यक्ति ने वहां एक दूकान पर देखा और फ़ौरन पुलिस को खबर कर दी. दिल्ली पुलिस ने उन्हें महरौली पुलिस स्टेशन पर रखा है.

दिल्ली पुलिस ने बीबीसी से इस बात की पुष्टि की है कि महरौली में पुलिस ने इस लड़के और लड़की को हिरासत में लिया है.

पुलिस का कहना है कि ये दोनों मधुबनी से निकलकर रांची गए, फिर जम्मू और दार्जिलिंग गए. अधिकारियों का कहना है कि ये दोनों सोमवार को सुबह ब्रह्मपुत्र मेल से पुरानी दिल्ली स्टेशन पहुँचे.

वे महरौली की एक चाय की दुकान पर बैठे थे जब स्थानीय लोगों में से किसी ने उन्हें पहचान लिया.

पुलिस कार्रवाई पर सवाल

उधर जिस सिर कटे हुए शव को प्रशांत के परिजन द्वारा पहचाने जाने के बाद जनाक्रोश के दबाव में पुलिस ने सौंप दिया था, उसका दाह संस्कार हो चुका है.

अब यह रहस्य गहरा गया है कि जो शव प्रशांत के परिजन को सौंपा गया, वह किसका थी?

बिहार के डीजीपी अभयानंद कहते हैं कि अभी इसका पता नहीं चल पाया है.

मधुबनी की पुलिस पहले से कह रही थी कि सिर कटे शव की जांच से उसकी उम्र लगभग 27 साल लगती थी, जबकि प्रशांत 17 साल का लड़का है.

इसी कारण लाश देने से आनाकानी कर रही पुलिस को वहां लोगों की तरफ से आक्रामक रोष का सामना करना पड़ा. आगजनी और तोड़फोड़ के बाद वहां पुलिस फ़ायरिंग में दो छात्रों की मौत भी हो गई.

पुलिस फ़ायरिंग और कथित खराब कानून-व्यवस्था के विरोध में सोमवार को विपक्ष ने बिहार बंद का आह्वान किया था, जिसका राज्य में व्यापक असर देखा गया.

संबंधित समाचार