कैबिनेट फेरबदल के पहले कृष्णा का इस्तीफ़ा

  • 26 अक्तूबर 2012
एसएम कृष्णा (फ़ाइल फ़ोटो)
Image caption कृ्ष्ण के अलावा भी कई मंत्री इस्तीफ़ा दे सकते हैं.

भारत के विदेशमंत्री एसएम कृष्णा ने अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया है.

प्रधानमंत्री के मीडिया सलाहकार पंकज पचौरी ने बीबीसी से बातचीत में इस बात की पुष्टि कर दी है कि कृष्णा ने प्रधानमंत्री के पास अपना इस्तीफ़ा भेज दिया है और इसे मंज़ूरी के लिए राष्ट्रपति के पास भेज दिया जाएगा.

कृष्णा ने रविवार को संभावित फेरबदल से सिर्फ़ दो दिन पहले इस्तीफ़ा दिया है. कृष्णा ने लाओस का अपना प्रस्तावित दौरा भी रद्द कर दिया है, जहां उन्हें प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ जाना था.

अपने इस्तीफ़े के बाद कृष्णा ने कहा कि वे पार्टी के एक वफ़ादार कार्यकर्ता हैं और पार्टी के लिए काम करते रहेंगे. पिछले कुछ दिनों से भारतीय मीडिया में कृष्णा के इस्तीफ़े की बात चल रही थी.

गुरुवार को कर्नाटक के लोकायुक्त ने मैसूर-बैंगलोर एक्सप्रेसवे के लिए ज़मीन अधिग्रहण करने के मामले में कृष्णा के ख़िलाफ़ जांच के आदेश दिए थे.

इसी मामले में पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा और कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के ख़िलाफ़ भी जांच के आदेश दिए गए हैं.

कैबिनेट फेरबदल

रविवार को होने वाले संभावित फेरबदल में कई मंत्रियों को हटाया जा सकता है या फिर जिनके पास एक से ज्यादा मंत्रालय का भार है उसे उनसे छीना जा सकता है.

भारतीय मीडिया में कई दिनों से ऐसी ख़बरें आ रही थीं कि चार बड़े मंत्रालय विदेश, गृह, रक्षा, वित्त में से किसी एक मंत्री का जाना तय था और उनमें कृष्णा के जाने की सबसे ज़्यादा अटकलें लगाई जा रही थीं.

ऐसी संभावना है कि कर्नाटक से ही आने वाले ए रहमान ख़ान को कैबिनेट में जगह मिल सकती है.

इसके अलावा कैबिनेट में कई युवा चेहरे भी देखे जा सकते हैं. कुछ राज्य मंत्रियों को कैबिनेट मंत्री बनाया जा सकता है तो कुछ नए चेहरे भी शामिल हो सकते हैं.

संबंधित समाचार