विवेकानंद और दाऊद का आईक्यू समान: गडकरी

नितिन गडकरी (फाइल फोटो)
Image caption नितिन गडकरी अपने विवादास्पद बयानों के लिए मशहूर हैं.

प्रमुख विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष नितिन गडकरी एक बार फिर विवादों के घेरे में हैं.

पिछले कुछ दिनों से कथित भ्रष्टाचार के कारण विवादों में रहने वाले नितिन गडकरी इस बार अपने ताज़ा बयान की वजह से सुर्ख़ियों में हैं.

महिलाओं की पत्रिका ओजस्विनी के एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए भोपाल पहुंचे गडकरी ने कहा कि स्वामी विवेकानंद और माफ़िया डॉन दाऊद इब्राहिम का आईक्यू एक जैसा था.

हालांकि बाद में उन्होंने कहा कि दोनों का आईक्यू एक जैसे ज़रूर थे, लेकिन उनकी ज़िंदगी की दिशा अलग थी.

गडकरी ने आगे कहा, ''ज़िंदगी में उनकी दिशा एक को स्वामी बना गई तो दूसरे को अंडरवर्ल्ड डॉन. एक ने इसका इस्तेमाल समाज की बेहतरी के लिए किया तो दूसरे ने आतंक फैलान के लिए किया.''

उनके इस बयान की चारों तरफ़ आलोचना हो रही है. भाजपा ने इस बयान पर प्रतिक्रिया देने से मना कर दिया है और कहा है कि गडकरी ख़ुद इस पूरे मसले पर स्पष्टीकरण देंगे.

अपने स्पष्टीकरण में गडकरी ने कहा कि उन्होंने दोनों की तुलना नहीं की थी और मीडिया ने उनके बयान को ग़लत तरीक़े से पेश किया है.

गडकरी के अनुसार उन्होंने कहा था कि जो लोग अपने आईक्यू का बेहतर इस्तेमाल करते हैं वे विवेकानंद जैसे हैं और जो अपने आईक्यू का इस्तेमाल सही काम के लिए नहीं करते हैं वे दाऊद इब्राहिम जैसे हैं.

विवादास्पद बयान

वैसे विवादास्पद बयानों से गडकरी का चोली दामन का रिश्ता रहा है.

इससे पहले भी कई बार विवादास्पद बयान देकर वो अपने और अपनी पार्टी के लिए आलोचना के विषय बनते रहें हैं.

एक बार भ्रष्टाचार का ज़िक्र करते हुए उन्होंने कहा था कि कांग्रेस मुन्नी से भी ज़्यादा बदनाम हो गई है.

संसद हमले मामले में फांसी की सज़ा दिए जाने वाले अफ़ज़ल गुरू को अब तक फांसी नहीं दिए जाने पर गडकरी ने कहा था कि अफ़ज़ल गुरू कांग्रेस के दामाद हैं.

इसी तरह उन्होंने एक बार आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह के ख़िलाफ़ भी कुछ विवादास्पद बयान दिए थे.

संबंधित समाचार