चुनाव आयोग के खिलाफ अदालत जाएंगे स्वामी

Image caption स्वामी का कहना है कि आयोग ने उनका पक्ष नहीं सुना

जनता पार्टी प्रमुख सुब्रमण्यम स्वामी ने चुनाव आयोग के उस फैसले को अदालत में चुनौती देने का फैसला किया है जिसमें आयोग ने कांग्रेस पार्टी की मान्यता रद्द करने के लिए दायर याचिका को खारिज कर दिया था.

स्वामी ने आयोग में याचिका दायर कर दावा किया था कि कांग्रेस पार्टी ने ‘एसोसिएट जर्नल’ को 90 करोड़ रुपए देकर कानून का उल्लंघन किया है.

स्वामी का कहना था कि चुनाव आयोग ने उन्हें कानूनी नजरिए से अपना पक्ष रखने का मौका नहीं दिया.

दोहरा मापदंड

उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग को इस बात का अहसास होना चाहिए कि एक न्यायिक संस्था के तौर पर उसे न केवल न्याय देना है बल्कि यह भी देखना है कि इंसाफ दिया गया है.

स्वामी ने कहा, “दरअसल, चुनाव आयोग ने लोगों की नजर में अपनी विश्वसनीयता खोई है, अब मैं इस मामले का निबटारा कोर्ट में करूंगा.”

स्वामी ने कोर्ट पर दोहरे मापदंड का भी आरोप लगाया है.

उन्होंने कहा कि उनकी याचिका पर सुनवाई ना कर आयोग ने उसे प्रायोजित तरीके से अखबारों में जारी कर दिया.

संबंधित समाचार