तेलंगाना राज्य के लिए छात्र ने दी जान

  • 7 नवंबर 2012
Image caption छात्र संतोष की आत्महत्या के बाद हैदराबाद में हंगामा.

अलग तेलंगाना राज्य की मांग को लेकर हैदराबाद में 20 वर्षीय एक छात्र ने खुदकुशी कर ली. संतोष ने उस्मामानिया विश्विद्यालय कैंपस में पेड़ से लटक कर जान दे दी.

उन्होंने अपने सुसाइड नोट में लिखा है कि वो अलग तेलंगाना बनने की सारी उम्मीद खो चुका था और जान देना ही एक मात्र विकल्प लगा और उसने खुद को फांसी से लटका दिया.

संतोष ने अपनी मौत के लिए केंद्र सरकार की टाल-मटोल की नीति को भी जिम्मेदार ठहराया है.

पुलिस के मुताबिक घटना आज तड़के की है. आदिलाबाद के रहने वाले डिग्री छात्र संतोष की आत्महत्या के बाद हैदराबाद में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया.

हंगामे को बढ़ता देख कॉलेज और विश्वविद्यालय बंद कर दिए गए.

तेलंगाना राष्ट्र समिति के मुताबिक अलग तेलंगाना राज्य की मांग को लेकर पिछले छह वर्षों में 900 से ज्यादा लोगों ने जान दे दी है जिनमें अधिकतर युवा और छात्र हैं.

वहीं, टीआरएस नेता चंद्रशेखर राव ने छात्रों और युवाओं से जान ना देने की अपील करते हुए कहा है कि लोग जान दिए बिना सरकार पर दबाव बढ़ाए.

संबंधित समाचार