नक्सलियों ने कर्मा का वाहन उड़ाया, बाल-बाल बचे

 गुरुवार, 8 नवंबर, 2012 को 14:51 IST तक के समाचार
महेंद्र कर्मा के काफ़िले पर नक्सली हमला

इस तस्वीर से विस्फोट का अंदाज़ा लगाया जा सकता है (फ़ोटो - www.dailychhattisgarh.com)

छत्तीसगढ़ में नक्सल विरोधी अभियान सलमा जुड़ूम के जन्मदाता माने जाने वाले वरिष्ठ कांग्रेस नेता महेंद्र कर्मा पर नक्सली हमला हुआ है. वे इस हमले में बाल बाल बच गए हैं जबकि पाँच लोग घायल हुए हैं.

हमला दंतेवाडा में उनके काफिले पर गुरूवार की सुबह तब हुआ जब वो अपने घर से ज़िला मुख्यालय जा रहे थे.

उनके काफ़िले में सात गाड़ियाँ थीं और जैसे ही काफ़िला फरसपाल पहुंचा, सड़क में बिछाई गई बारूदी सुरंग का ज़ोरदार धमाका हुआ.

दंतेवाड़ा से बीबीसी से फ़ोन पर बात करते हुए कर्मा का कहना था कि उनका वाहन काफ़िले के बीचों बीच था.

उन्होंने बताया, "हमला मुझे निशाना बनाकर किया गया था. सिर्फ कुछ सेकेंडों का फ़र्क था. काफी ज़ोरदार धमाका था. इतना ज़ोरदार की मेरी बुलेट प्रूफ गाड़ी भी 15 फीट दूर जाकर पलट गयी. मेरे चालक को चोट आई है."

दंतेवाड़ा को नक्सलियों का गढ़ माना जाता है और इसके बहुत बड़े इलाक़े में सुरक्षा बल की भी पहुँच नहीं है.

हमला

चूँकि कर्मा बुलेट प्रूफ गाड़ी में थे इसलिए धमाके का ज्यादा असर उनके वाहन पर नहीं हुआ.

"अब माओवादी इस इलाक़े में पहले से ज़्यादा मज़बूत हो गए हैं. उनका मनोबल भी काफ़ी बढ़ गया है"

महेंद्र कर्मा

उनकी सुरक्षा में लगे चार पुलिस कर्मियों को भी इस हमले में चोटें आईं हैं. सभी घायलों को दंतेवाड़ा के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

पुलिस का कहना है कि माओवादी छापामारों ने ही सड़क के बीचो बीच बारूदी सुरंग लगाई थी.

यूं तो महेंद्र कर्मा और उनके परिवार पर पहले भी माओवादियों ने कई हमले किए हैं. मगर उन पर गुरुवार का हमला अब तक का सबसे बड़ा हमला बताया गया है.

बीबीसी से हुई बातचीत में कर्मा ने आरोप लगाया है कि छत्तीसगढ़ और ख़ास तौर पर बस्तर मे चल रहा नक्सल विरोधी अभियान अब कमज़ोर पड़ गया है.

वो कहते हैं, "अब माओवादी इस इलाक़े में पहले से ज़्यादा मज़बूत हो गए हैं. उनका मनोबल भी काफ़ी बढ़ गया है."

उदाहरण के तौर पर उन्होंने बीजापुर में मंगलवार की घटना का हवाला दिया जब माओवादियों ने पुलिस के एक सहायक निरीक्षक को जबरन यात्री बस से उतारा और उसकी हत्या कर दी.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.