जेठमलानी ने कहा, 'राम थे बहुत बुरे पति'

राम जेठमलानी
Image caption राम जेठमलानी अधिकतर विवादों में रहते हैं.

हमेशा विवादों में रहने वाले मशहूर वकील और भारतीय जनता पार्टी के राज्यसभा सदस्य राम जेठमलानी ने इस बार हिंदुओं के आराध्य राम को निशाना बनाया है और कहा है कि वे बहुत बुरे पति थे.

गुरुवार को दिल्ली में स्त्री-पुरुष संबंधों पर लिखी किताब के विमोचन के मौके पर बोलते हुए राम जेठमलानी ने कहा कि उनकी नज़र में भगवान राम बहुत खराब पति थे.

उन्होंने कहा कि वो उन्हें जरा भी पसंद नहीं करते क्योंकि उन्होंने 'एक मछुआरे की बात सुनकर बेचारी महिला (सीता) को निर्वासन में भेज दिया था.'

जेठमलानी ने आगे कहा कि उनके भाई लक्ष्मण तो उनसे भी बुरे थे.

लक्ष्मण की निगरानी में ही सीता का अपहरण हुआ और जब राम ने उन्हें सीता को ढूंढने के लिए कहा तो उन्होंने यह कहते हुए बहाना किया कि वो उनकी भाभी थीं. उन्होंने कभी उनका चेहरा नहीं देखा, इसलिए वो उन्हें पहचान नहीं पाएंगे.

पिछले कई दिनों से राम जेठमलानी अपने विवादास्पद बयानों के चलते चर्चा में हैं. हाल ही में उन्होंने पार्टी अध्यक्ष नितिन गडकरी को हटाने की वकालत की थी.

जेठमलानी के इस बयान पर अभी तक भारतीय जनता पार्टी की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

'सेक्सी' राधा पर आपत्ति

यहाँ ये भी महत्वपूर्ण है कि गुरुवार सुबह ही भारतीय जनता पार्टी नेता सुषमा स्वराज ने फिल्म 'स्टूडेंट ऑफ द इयर' में राधा को सेक्सी कहने पर ऐतराज जताते हुए इस मामले को संसद में उठाने का ऐलान किया था.

सुषमा स्वराज ने दिल्ली में आरएसएस के एक कार्यक्रम में कहा था, “ यह क्यों होता है कि गानों या फिल्मों में सिर्फ हिन्दू देवताओं का ही नाम आता है. स्टूडेंट ऑफ द इयर फिल्म के एक गाने में राधा का नाम है. पता नहीं क्यों लोग सीता, राधा, कौशल्या आदि का नाम ही इस्तेमाल करते हैं. अक्सर इनका नाम बुरे सेंस में ही इस्तेमाल होता है.”

वैसे इस पर पहले भी आपत्ति जताई जा चुकी है.

कुछ संगठनों ने सेंसर बोर्ड से अपील की थी कि वह इस गाने को फ़िल्म से हटा दें.

संबंधित समाचार