प्रेम की कीमत मौत से चुकानी पड़ी

Image caption भारत में आज भी कई तबकों में प्रेम विवाह को मंजूरी नहीं. इस बाबत ऑनर किलिंग के कई मामले सामने आ चुके हैं.

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के अडहोली गांव में दो साल पहले प्रेम विवाह करने वाले अब्दुल हकीम की गुरुवार देर शाम हत्या कर दी गई. अब्दुल की पत्नी महविश ने कहा है कि हत्या के पीछे प्रेम विवाह वजह है जबकि पुलिस का कहना है कि ये हत्या गुरुवार को हुए झगड़े की वजह से हुई है.

बुलंदशहर के अड्होली गांव में अपने ही गांव की लड़की से शादी करने वाले अब्दुल हकीम की गुरुवार देर शाम गोली मारकर हत्या कर दी. अब्दुल की पत्नी महविश ने कहा कि ये हत्या उनके घर परिवार में दूर के चचेरे भाईयों ने प्रेम विवाह की वजह से की है.

महविश कहती हैं, ''दो साल पहले हमने कोर्ट में प्रेमविवाह किया. तब हमारे घरवालों ने और गांववालों ने हमारी शादी का विरोध किया था. उसके बाद हम दिल्ली चले गए, लेकिन दो महीने पहले हम इस गांव में आकर बसे. हमारे घरवालों ने समय के साथ हमें अपना लिया था लेकिन गांव में कुछ लोग फिर भी हमारी जान के पीछे पड़े थे. हमें लगा था कि घरवाले राज़ी हो गए हैं तो ये लोग ऐसा नहीं करेंगे.''

गुरुवार सुबह किसी बात पर अब्दुल का अपने पड़ोसियों से झगड़ा हुआ और देर शाम हकीम की हत्या कर दी गई. बुलंदशहर के एसएसपी गुलाब सिंह ने बीबीसी को बताया कि शुरुआती जांच में हत्या की वजह झगड़ा रही है.

गुलाब सिंह कहते हैं, ''ये लोग सालभर से इस इलाके में रह रहे थे. इनकी शादी को दो साल हो चुके हैं. लड़की के घरवाले भी राज़ी हो गए थे, इसलिए मामला प्रेमविवाह पर नाराज़गी का नहीं लगता. अब्दुल हकीम की हत्या की गई है ये सच है लेकिन साल भर से और कोई बात नहीं हुई थी.''

इस जो़ड़े को प्रेमविवाह के बाद शरण देने वाले संगठन लव कमांडों के संजय सचदेव का कहना है कि इस हत्या के पीछे प्रेम विवाह ही असल वजह हैं.

महविश से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ''गुरुवार को सुबह जो झगड़ा हुआ वो छोटी बात थी. असल में हम जबसे यहां आए थे ये लोग हमें मारना चाहते थे.''

पुलिस ने इस बारे में मामला दर्ज कर तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है और जांच जारी है.

संबंधित समाचार