'खादी वाला गुंडा हूँ मैं'

Image caption एक हत्या के सिलसिले में अनूप मिश्रा को अपना मंत्री पद गवांना पड़ा था.

मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य शिक्षा मंत्री ने एक आयोजन समारोह में भाषण के दौरान हुए खुद को गुंडा बताया है.

मध्य प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी वाली सरकार के मंत्री अनूप मिश्रा ने कहा कि वह खादी वर्दी वाले सफेदपोश गुंडे हैं.

भिंड जिले के लहार में सरकार की महत्वाकांक्षी सरदार वल्लभ भाई पटेल मुफ्त दवा वितरण योजना की शुरुआत करने आए अनूप मिश्रा ने सभा को संबोधित करते हुए कहा, "एक फिल्म आई थी वर्दी वाला गुंडा, लेकिन मैं खादी वर्दी वाला सफेदपोश गुंडा हूं."

अनूप मिश्रा ने चिकित्सा महकमे के अफसरों को चेतावनी देते हुए कहा कि वो सरकार की योजनाओं को ईमानदारी से लागू करें. इसमें किसी ने लापरवाही बरती तो उसको छोडा नहीं जाएगा.

अनूप मिश्रा ने आगे कहा, 'अब यहां किसी और की गुंडागर्दी नहीं चलेगी. न किसी अफसर की और न ही रेत माफिया की. सरकार ने इसीलिए मुझे यहां भेजा है और मैं पूरी तरह सक्षम हूं.

उन्होंने कहा," जिले में एक ही दादा रहता है.इन लोगों को समझ लेना चाहिए कि मैं आ गया हूं. मैं सक्षम हूं और गुंडागर्दी करने वालों के आतंक का खात्मा करके रहूंगा."

इससे पहले, अनूप मिश्रा का काफिला जैसे ही समारोह में पहुंचा तो उनके समर्थकों ने हवा में फायरिंग करके उनका स्वागत किया.

बर्खास्तगी की मांग

अनूप मिश्रा के इस बयान को गंभीरता से लेते हुए लहार से कांग्रेस विधायक ने राज्यपाल राम नरेश यादव से उन्हें मंत्रिमंडल से बर्खास्त किए जाने की मांग की है.

स्थानिय काग्रेस विधायक गोविंद सिंह ने बयान में कहा है कि मंत्री का ये कांम न सिर्फ लोकतांत्रिक परंपराओं के खिलाफ है बल्कि पद की शपथ का भी उल्लंघन है. साथ ही उनके समर्थकों ने खुले आम जिस तरीके से हवा में गोलियां चलाई हैं वो भी गैर कानूनी है.

अनूप मिश्रा को हाल ही में मंत्रिमंडल में दोबारा शामिल किया गया है. एक हत्या के मामले में कथित रुप से नाम आने के बाद उन्हें मंत्रिमंडल से इस्तीफा देना पड़ा था.

बाद में अदालत ने उन्हें इस मामले से बरी कर दिया था.

संबंधित समाचार