आमिर: जताई गई थी हत्या की आशंका

 बुधवार, 28 नवंबर, 2012 को 10:15 IST तक के समाचार

आमिर खान ने 'सत्यमेव जयते' में ऑनर किलिंग का मुद्दा उठाया था.

टीवी शो ‘सत्यमेव जयते’ के ज़रिए सामाजिक समस्याओं को उठाने वाले अभिनेता आमिर ख़ान ने कहा है कि उन्हें 'ऑनर किलिंग के मामले में शिकार बने' अब्दुल हाकिम की मौत से धक्का लगा है और वो चाहते हैं कि पुलिस उनके हत्यारों को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर सज़ा दिलाए.

आने वाली फिल्म 'तलाश' के प्रचार के लिए मेरठ पहुंचे आमिर ने कहा कि अब्दुल हाकिम की पत्‍‌नी महविश और बेटी को सुरक्षा मुहैया कराई जानी चाहिए.

मोहम्मद हाकिम और महविश टीवी कार्यक्रम 'सत्यमेव जयते' में शामिल हुए थे.

इससे पहले, गुरुवार को उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के अडहोली गांव में दो साल पहले प्रेम विवाह करने वाले अब्दुल हाकिम की देर शाम हत्या कर दी गई.

मृतक अब्दुल हाकिम की पत्नी महविश का आरोप है कि ये हत्या उनके घर परिवार में दूर के चचेरे भाइयों ने उनके प्रेम विवाह की वजह से की है जबकि पुलिस का कहना है कि इस हत्या की जड़ झगड़ा थी.

ख़तरे की आशंका

आमिर ने कहा कि जब उन्हें हाकिम की हत्या की जानकारी मिली तो उन्हें और उनकी पूरी टीम को बहुत दु:ख हुआ.

"सत्यमेव जयते के दौरान जब मैं उनसे मिला था तो उन्होंने खुद की हत्या की आशंका जताई थी, उन्हें पहले से ही धमकियां मिल रही थी.मैं हर मंच पर इस मुद्दे को उठा रहा हूँ और पीड़ित परिवार को न्याय मिलने तक अपने प्रयास जारी रखूंगा."

आमिर खान

उन्होंने बताया कि शो के दौरान भले ही इस जोड़े की कहानी का पूरा प्रसारण नहीं किया गया था, लेकिन रिसर्च के दौरान दोनों का इंटरव्यू लिया गया था और इसमें उन्होंने हत्या की आशंका जताई थी. किससे उन्हें खतरा है, वह भी जोड़े ने बयां किया था.

आमिर ख़ान ने कहा “सत्यमेव जयते के दौरान जब मैं उनसे मिला था तो उन्होंने हत्या की आशंका जताई थी, उन्हें पहले से ही धमकियां मिल रही थीं.”

उन्होंने कहा कि वो हर मंच पर इस मुद्दे को उठा रहे हैं और पीड़ित परिवार को न्याय मिलने तक अपने प्रयास जारी रखेंगे.

उन्होंने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो वो मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से भी मिलेंगे और वो महविश और उसके परिवार वालों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहे हैं.

हर संभव प्रयास

हत्या के बाद महविश ने कहा, ''दो साल पहले हमने कोर्ट में प्रेम विवाह किया. तब हमारे घर वालों ने और गांव वालों ने हमारी शादी का विरोध किया था. उसके बाद हम दिल्ली चले गए, लेकिन दो महीने पहले हम इस गांव में आकर बसे. हमारे घर वालों ने समय के साथ हमें अपना लिया था लेकिन गांव में कुछ लोग फिर भी हमारी जान के पीछे पड़े थे. हमें लगा था कि घर वाले राज़ी हो गए हैं तो ये लोग ऐसा नहीं करेंगे.''

बुलंदशहर के एसएसपी गुलाब सिंह ने बीबीसी को बताया कि शुरुआती जांच में हत्या की वजह झगड़ा रही है.

गुलाब सिंह कहते हैं, ''ये लोग सालभर से इस इलाके में रह रहे थे. इनकी शादी को दो साल हो चुके हैं. लड़की के घर वाले भी राज़ी हो गए थे, इसलिए मामला प्रेम विवाह पर नाराज़गी का नहीं लगता. अब्दुल हाकिम की हत्या की गई है ये सच है लेकिन साल भर से और कोई बात नहीं हुई थी.''

पुलिस ने इस बारे में मामला दर्ज कर तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है और जांच जारी है.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.