ज़ी टीवी के पत्रकार गिरफ्तार

 मंगलवार, 27 नवंबर, 2012 को 22:49 IST तक के समाचार
ज़ी टीवी

ज़ी टीवी भारत का पहला 24 घंटे का न्यूज़ चैनल था.

प्रतिष्ठित टीवी चैनल ज़ी न्यूज़ के दो वरिष्ठ पत्रकारों को कांग्रेस सांसद और उद्योगपति नवीन जिंदल से उगाही करने के आरोप में मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया है.

ख़बरों के अनुसार ज़ी न्यूज़ के प्रमुख सुधीर चौधरी और ज़ी बिजनेस के प्रमुख समीर अहलूवालिया को गिरफ़्तार किया गया है.

इन दोनों पर आरोप है कि उन्होंने उद्योगपति नवीन जिंदल के ग्रुप से इस आधार पर 100 करोड़ रुपए मांगे थे कि वो ज़िंदल और कोयला घोटाले को जोड़ कर कोई रिपोर्ट नहीं करेंगे.

उल्लेखनीय है कि जब सुधीर चौधरी और समीर अहलूवालिया इस बारे में जिंदल ग्रुप के साथ बात कर रहे थे तब ज़िंदल ग्रुप ने उनका एक सीडी बना लिया था.

इस सीडी में दिखाया गया था कि ये पत्रकार पैसों की मांग कर रहे थे और कह रहे थे कि अगर उन्हें ये पैसा मिला तो वो जिंदल ग्रुप के बारे में नेगेटिव खबरें नहीं करेंगे.

सुधीर चौधरी ने इन आरोपों को बकवास करार दिया था और कहा था कि ये चैनल पर दबाव बनाने का तरीका है.

इससे पहले नवीन जिंदल ने कहा था कि ज़ी के अधिकारी उनसे पिछले चार वर्षों से बीस करोड़ रुपए मांग रहे हैं जिसके बाद उन्होंने इस बैठक की चुपके चुपके सीडी बनाई थी.

मामला सामने आने के बाद ज़ी टीवी ने जिंदल ग्रुप के ख़िलाफ़ 100 करोड़ रुपए का मानहानि का दावा किया था. जबकि ज़िंदल ने ज़ी के ख़िलाफ़ 200 करोड़ रुपए का दावा कर रखा है.

उल्लेखनीय है कि कैग की रिपोर्ट में जिंदल समूह का नाम भी उन कंपनियों के साथ रखा गया है जिन्हें कोयला ब्लॉक आवंटन में फायदा पहुंचा है.

इसे भी पढ़ें

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.