क्या मुंह लेकर जाऊंगा पाकिस्तान: मनमोहन

  • 15 दिसंबर 2012
भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का जन्म पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में हुआ था.

भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने शनिवार को पाकिस्तानी गृह मंत्री रहमान मलिक के साथ मुलाक़ात में मुंबई हमले के पाकिस्तान में बैठे गुनहगारों के खिलाफ़ लंबित मुकदमे का मुद्दा उठाया.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक प्रधानमंत्री से 15 मिनट तक चली मुलाक़ात में रहमान मलिक ने कहा कि मुंबई हमले के मुक़दमे को आगे बढा़ने के लिए एक पाकिस्तानी न्यायिक आयोग भारत भेजा जाएगा और पाकिस्तान में इस केस को जल्दी ही अंजाम तक पहुंचाया जाएगा.

भारत ने पहले ही पाकिस्तान के साथ बातचीत में मुंबई हमले के अभियुक्तों से जुड़े मुक़दमें की धीमी गति पर अपनी चिंता जता चुका है.

मनमोहन को न्योता

पीटीआई के मुताबिक रहमान मलिक ने प्रधानमंत्री से मुलाक़ात के बाद कहा कि उन्होंने मनमोहन सिंह को एक बार फिर से पाकिस्तान आने का न्योता दिया.

उन्होंने कहा, "पहले भी हम उन्हें न्योता दे चुके हैं. आज हमने अपनी बात फिर से दोहराई और कहा कि पाकिस्तान के लोग उन्हें देखना चाहते हैं, ख़ासतौर से चटवाल गांव के लोग जहां मनमोहन सिंह का जन्म हुआ था. गांव के लोग ये देखना चाहते हैं कि जिस बच्चे ने वहां जन्म लिया था वो अब एक देश का प्रधानमंत्री और एक वैश्विक नेता बन गया है.हमने उनसे कहा कि अगर वो पाकिस्तान नहीं आएंगे तो हम निराश हो जाएंगे."

पाकिस्तानी गृहमंत्री ने मनमोहन सिंह से उनके सात रेसकोर्स रोड स्थित आवास पर मुलाक़ात की. उनके साथ पाकिस्तानी उच्चायुक्त सलमान बशीर भी मौजूद थे.

रहमान मलिक ने मुलाकात के बाद ये भी बताया कि भारतीय प्रधानमंत्री ने इस बात पर चिंता जताई कि जब वो वहां जाएंगे तो भारत के लोग उनसे सवाल करेंगे.

उन्होंने प्रधानमंत्री के शब्दों को दोहराते हुए कहा, "भारत के लोग मुझसे पूछेंगे कि मैंने मुंबई हमले के शिकार हुए लोगों का घाव भरने के लिए अबतक आखिर क्या किया है."

संबंधित समाचार