समझौता एक्सप्रेस धमाके में अहम संदिग्ध गिरफ्तार

  • 16 दिसंबर 2012
समझौता एक्सप्रेस धमाके
Image caption धमाकों में भारत और पाकिस्तान के बीच चलने वाली ट्रेन को निशाना बनाया गाय

भारत की राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने समझौता एक्सप्रेस धमाकों के सिलसिले में एक अहम संदिग्ध को गिरफ्तार करने का दावा किया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार राजेश चौधरी को मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार किया गया है.

समंदर दास के नाम से भी जाने जाने वाले चौधरी पर पांच लाख रुपये का इनाम था.

उन्हें शनिवार को गिरफ्तार किए जाने के बाद उज्जैन की अदालत में पेश किया गया. एनआईए को चौधरी की ट्रांजिट रिमांड मिल गई है और अब उन्हें पंचकुला की अदालत में पेश किया जाएगा.

भारत और पाकिस्तान के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस में 18 फरवरी 2007 को हरियाणा में पानीपत के नजदीक धमाका हुआ जिसमें 68 लोग मारे गए और 12 घायल हो गए. मरने वालों में ज्यादातर पाकिस्तानी नागरिक थे.

चौथी गिरफ्तारी

ये गिरफ्तारी ऐसे समय में हुई है जब पाकिस्तानी गृह मंत्री रहमान मलिक भारत के दौरे पर हैं.

ये इस मामले में चौथी गिरफ्तारी है. एनआईए कमल चौहान, असीमानंद और लौकेश शर्मा को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है. एनआईए ने अपनी चार्जशीट में इस मामले में छह लोगों को अभियुक्त बनाया है.

इन धमाकों की शुरुआती जांच सरकारी रेलवे पुलिस और हरियाणा पुलिस की विशेष जांच टीम ने की थी. बाद में 29 जुलाई 2010 को एनआईए ने ये मामला अपने हाथ में ले लिया.

जांच अधिकारी इन धमाकों के पीछे हिंदू चरमपंथियों का हाथ बताते हैं.

संबंधित समाचार