शिवाजी पार्क से हटी बाल ठाकरे की 'समाधि'

  • 18 दिसंबर 2012
बाल ठाकरे
Image caption इसी जगह पर बाल ठाकरे का अंतिम संस्कार किया गया था

मुंबई के शिवाजी पार्क में जिस जगह पर शिवसेना के नेता बाल ठाकरे का अंतिम संस्कार किया गया था वहां बनाई गई उनकी अस्थायी समाधि को शिवसैनिकों ने हटा लिया है.

बाल ठाकरे का 17 नवंबर को निधन हो गया था. 18 नवंबर को मुंबई के ऐतिहासिक शिवाजी पार्क में उनका अंतिम संस्कार किया गया था और इसके बाद उनकी अत्येष्टि स्थल को ही समाधि की तरह स्थापित करने का प्रयास किया जा रहा था.

मुंबई महानगर पालिका और राज्य सरकार दोनों ने शिवसेना से कहा था कि शिवाजी पार्क में सिर्फ़ अंत्येष्टि की अनुमति दी गई थी न कि समाधि बनाने के लिए और इसलिए मैदान को खाली कर दिया जाए.

प्रशासन के दबाव के बाद शिवसेना के नए नेता और बाल ठाकरे के पुत्र उद्धव ठाकरे ने आश्वासन दिया था कि शिवसैनिक ख़ुद समाधि को हटा लेंगे.

आधी रात के बाद

बाला साहब ठाकरे कि अस्थाई समाधि स्थल को हटाने का काम देर रात मुंबई के मेयर सुनील प्रभु और सुभाष देसाई समेत कुछ वरिष्ठ शिवसेना के नेताओं की मौजूदगी में किया गया था.

स्मारक हटाने की प्रक्रिया तीन घंटे में पूरी की गई.

जिस समय ये स्मारक यहां से हटाया गया था उस समय समूचे स्मारक स्थल को परदों से ढंक दिया गया था. इसके लिए मि्टटी हटाने वाली एक मशीन का भी इस्तेमाल किया गया था.

स्मारक स्थल की मिट्टी को एक ट्रक में लाद कर वहां से ले जाया गया था.

ये काम रात तीन बजे के बाद शुरु हुआ था और कमोबेश शांतिपूर्ण रहा.

हालांकि वहां मौजूद कुछ उत्साही शिवसैनिकों ने पार्क में ही स्थापित शिवाजी की मूर्ति के सामने बाल ठाकरे की मूर्ति खड़ी करने की कोशिश की थी जिसे पुलिस ने विफल कर दिया.

मीडिया को भी अस्थाई समाधि के नज़दीक जाने की अनुमति नहीं दी गई.

समाधि स्थल की मांग

इस बीच ये माना जा रहा कि शिवसेना के सहयोगी दल भाजपा भी बाल ठाकरे की याद में स्थाई समाधिस्थल बनाने के लिए जगह की मांग तेज़ करने वाली है.

मुंबई महानगर पालिका के ज्य़ादातर सीटों पर भाजपा और शिवसेना का कब्ज़ा है.

सोमवार को बाल ठाकरे की समाधि पर श्रद्धांजलि देने आए शिवसेना नेता रामदास कदम ने कहा था, ''शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चौहान को दिए गए अपने वादे को ज़रूर पूरा करेंगे और अस्थायी समाधि स्थल को वहां से हटाने के लिए राजी हो जाएंगे.''

शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने भी पिछले सप्ताह इस अस्थायी समाधि स्थल को हटाने की बात कही थी.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार शिवसेना के रुख में ये नरमी बृहनमुंबई नगर पालिका की नोटिस के बाद आई थी.

इससे पहले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चौहान ने कहा था कि मुंबई के मध्य में स्थित खुले मैदान को सिर्फ़ अंत्येष्ठि के लिए शिवसेना को दिया गया था और अब उसे खाली कर दिया जाना चाहिए.

संबंधित समाचार