सवालों से घिरे पुलिस कमिश्नर का जवाब

नीरज कुमार
Image caption नीरज कुमार ने मामले की जल्द जाँच की मांग की

दिल्ली में हुए सामूहिक बलात्कार के क़रीब दो दिन बाद दिल्ली पुलिस आयुक्त नीरज कुमार ने मीडिया को संबोधित किया और जानकारी दी कि इस मामले में चार अभियुक्तों को गिरफ़्तार कर लिया गया है.

उन्होंने बताया कि दो अभियुक्त फरार हैं. पुलिस आयुक्त ने उम्मीद जताई कि इन दोनों को जल्द ही गिरफ़्तार कर लिया जाएगा.

नीरज कुमार ने कहा कि दिल्ली पुलिस अदालत से अपील करेगी कि वो इस मामले में फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट का गठन करे और जल्द ही इस मामले में सज़ा दे.

उन्होंने ये भी जानकारी दी कि ज़्यादातर अभियुक्त आरके पुरम के पास की झुग्गियों के रहने वाले हैं. घटना के बारे में दिल्ली पुलिस आयुक्त ने बताया कि ये घटना रात 9.30 से 10 बजे तक की है.

नीरज कुमार ने ये भी बताया कि बस ड्राइवर राम सिंह और उसके कई साथी उस समय ड्यूटी पर नहीं थे और इस चार्टर्ड बस में घूमने निकले थे.

घटनाक्रम के बारे में नीरज कुमार का बयान......

पीड़ित और उनका दोस्त मुनिरका में खड़े थे, तभी वहाँ ये चार्टर्ड बस पहुँची और बस वालों ने ये कहा कि ये द्वारका जा रही है. दोनों उस बस में चढ़ गए. उनसे 10-10 रुपए लिए भी गए. लेकिन इसके बाद लड़की के साथ छेड़छाड़ शुरू हो गई.

लड़के ने इसका विरोध किया और बहुत ही बहादुरी से उनका सामना किया. लड़की ने भी अपने मित्र को बचाने की कोशिश की. लेकिन उनके साथ मारपीट की गई. फिर लड़की को बस के पिछले हिस्से में ले गया गया और फिर उनके साथ बलात्कार हुआ. बाद में इन दोनों को बस के अगले दरवाज़े से फेंक दिया गया.

पुलिस को जैसे ही इस घटना के बारे में पता चला, उसने कार्रवाई शुरू की. पुलिस को इस बस के बारे में कुछ सुराग मिला, जिसमें अहम था कि उस पर 'यादव' लिखा हुआ था. हमने 370 बसों को पकड़ा और फिर आरके पुरम के सेक्टर-3 से बस बरामद की गई.

पहले तो ड्राइवर राम सिंह ने अपना अपराध नहीं स्वीकार किया. बस को भी धो दिया गया था. लेकिन बाद में उसने अपना अपराध स्वीकार कर लिया. बाद में राम सिंह के अलावा उसके भाई मुकेश, एक जिम इंस्ट्रक्टर विनय गुप्ता और फल बेचने वाले पवन गुप्ता को गिरफ़्तार कर लिया गया है.

दो अन्य फरार है, जिन्हें पकड़ने के लिए टीम लगी हुई है. पीड़ित लड़की की हालत गंभीर है, लेकिन पहले से स्थिति कुछ बेहतर है. हम ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कि वो जल्द से ठीक हो जाए.

संबंधित समाचार