बलात्कार पीड़ित की हालत में सुधार

बलात्कार
Image caption दिल्ली में घटना के विरोध में छह दिनों से चल रहे प्रदर्शन जारी हैं

राजधानी दिल्ली में रविवार को चलती बस में सामूहिक बलात्कार का शिकार बनी 23-वर्षीय छात्रा की हालत में सुधार हो रहा है.

लड़की की जाँच की बाद पत्रकारों से बात करते हुए डॉक्टरों ने कहा कि उसके चेहरे पर निराशा नहीं है.

मनोचिकित्सकों ने भी पीड़ित लड़की की जाँच की है.

डॉक्टरों के मुताबिक पीड़ित लड़की मनोवैज्ञानिक रूप से स्वस्थ है और भविष्य को लेकर आशावान है.

इससे पहले लड़की को वेंटिलेटर से हटा लिया गया था और उसे संक्रमण से बचाने के लिए डॉक्टरों को उसकी आंतें निकालनी पड़ी हैं.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक डॉक्टरों ने कहा कि पीड़ित लड़की सचेत है और अपनी बात कहने की कोशिश कर रही है.

पीड़ित लड़की ने सेब का जूस भी पिया.

डॉक्टरों ने कहा कि हालाँकि लड़की की हालत ठीक है, अभी भी संक्रमण की संभावना बनी हुई है.

उधर दिल्ली में घटना के विरोध में छह दिनों से चल रहे प्रदर्शन जारी हैं.

सबसे बड़ा प्रदर्शन राष्ट्रपति भवन के नजदीक रायसीना हिल के नजदीक हो रहा है जहाँ पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले छोड़े और पानी की बौछार की.

इस प्रदर्शन में विभिन्न स्कूल और कॉलेज के छात्रों, विभिन्न संगठनों के कार्यकर्ताओं, गृहणियों, पेशेवरों समेत युवा और उम्रदराज-सभी वर्ग के लोगों ने हिस्सा लिया.

उनमें से कई लोगों ने कहा कि उनकी बातों को सुनने के लिए नेता घरों से बाहर निकलें.

पीठ ना थपथपाएँ

उधर भाजपा प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद ने दिल्ली पुलिस से कहा कि वो अपनी पीठ ना थपथपाए.

उन्होंने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से आग्रह किया कि वो प्रदर्शनकारियों या फिर उनके प्रतिनिधियों से बात करें.

उन्होंने कहा कि जिस तरह पुलिस ने प्रदर्शकारियों के साथ बर्ताव किया है उनकी पार्टी उसकी भर्त्सना करती है.

राजधानी दिल्ली के अलावा देश के कई हिस्सों में हाल के दिनों में इस बर्बर बलात्कार पर लोगों ने सड़कों पर उतर कर अपना गुस्सा जताया है.

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि एक के बाद एक बलात्कार की घटनाएं हो रही हैं और इन्हें रोकने के लिए कारगर कदम नहीं उठाए जा रहे हैं.

शनिवार को दिल्ली में सड़क पर उतरे हजारों लोगों में महिला और पुरूष दोनों शामिल हैं. ये सभी दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती 23 वर्षीय लड़की के लिए इंसाफ की मांग कर रहे हैं, जिसका रविवार को बर्बरता से बलात्कार किया गया.

संबंधित समाचार