महिलाओं के लिए मुस्तैद होगी दिल्ली पुलिस

 सोमवार, 24 दिसंबर, 2012 को 20:19 IST तक के समाचार

गैंगरेप मामले के बाद दिल्ली पुलिस का चेहरा बदलने की तैयारी

नई दिल्ली में चलती बस में गैंगरेप मामले के एक सप्ताह बाद पहली बार मीडिया से मुखातिब हुए दिल्ली के उप-राज्यपाल तेजिंदर खन्ना ने दिल्ली की पुलिस व्यवस्था में कई बदलावों की घोषणा की है.

दिल्ली के उप- राज्यपाल लेफ्टिनेंट तेजिंदर खन्ना ने दिल्ली पुलिस में बदलाव संबंधी 17 प्रावधानों की घोषणा की है.

इस घोषणा के मुताबिक अब किसी भी पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराने के लिए पहुंची महिला को हर हाल में दर्ज करना होगा. थाने पर मौजूद पुलिस अधिकारी महिलाओं की शिकायत दर्ज करने में कोई आनाकानी नहीं कर पाएंगे.

दिल्ली गैंग रेप मामले में भी सख्ती दिखाते हुए तेजिंदर खन्ना ने ट्रैफिक और पीसीआर सेल के काम काज में ढिलाई बरतने के आरोप में एसीपी स्तर के दो अधिकारियों को निलंबित कर दिया है. इसके अलावा डीसीपी स्तर के दो अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस दिया गया.

तेजिंदर खन्ना ने इस मौके पर ये भी कहा कि वे अपना अमरीका दौरा दिल्ली की मौजूदा स्थिति को देखते हुए अपने मर्जी से बीच में छोड़कर आए हैं, इस बाबत उनपर किसी का कोई दबाव नहीं था.

अब आनाकानी नहीं चलेगी

तेजिंदर खन्ना ने कहा, “दिल्ली में 161 पुलिस स्टेशन हैं, और इन स्टेशनों में किसी भी महिला की शिकायत को बिना किसी आनाकानी के दर्ज किया जाएगा.”

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल के कमिश्नर सुधीर यादव की अगुवाई में एक नयी पहल की गई है. इसके तहत प्रत्येक महीने के अंतिम शुक्रवार को सुधीर यादव राज्य के तमाम महिला संगठनों की एक बैठक करेंगे और महिलाओं की शिकायतों पर चर्चा करेंगे.

सुधीर यादव का मोबाइल नंबर 9818099012 भी सार्वजनिक किया गया है ताकि कोई भी महिला उनसे सीधे शिकायत दर्ज करा सकती है. ये शिकायत specialcptraffic@gmail.com पर ईमेल के ज़रिए भी की जा सकती है.

"“दिल्ली के अंदर चलने वाली सभी बस, ऑटो और टैक्सी ड्राइवरों की जांच होगी और उन्हें हमेशा अपना फोटो पहचान पत्र साथ लेकर चलना होगा."

तेजिंदर खन्ना, राज्यपाल, दिल्ली

हर तीन महीने पर दिल्ली के उ- राज्यपाल खुद भी महिला संगठनों की प्रतिनिधियों से मुलाकात करेंगे.

साथ ही दिल्ली पुलिस के कर्मचारियों को भी महिलाओं के साथ बेहतर व्यवहार का तौर तरीका सिखाया जाएगा. उप- राज्यपाल खन्ना ने कहा, “दिल्ली पुलिस के कमिश्नर पहले ही इस बाबत पुलिसकर्मियों को ख़त लिख चुके हैं. अब हमारे पास किसी पुलिसकर्मी की महिला के साथ खराब बर्ताव की शिकायत मिलती है तो हम पुलिसकर्मी पर सीधे कार्रवाई करेंगे.”

परिवहन व्यवस्था को बेहतर बनाने की कोशिश

खन्ना के मुताबिक दिल्ली में मौजूदा समय में 80 हज़ार पुलिसकर्मी तैनात हैं और इन सबको महिलाओं के साथ सौम्य और सभ्य बर्ताव करने के बारे में जागरूक बनाया जाएगा.

दिल्ली के उप-राज्यपाल ने ये भी बताया कि इस तरह की जागरूकता की जरूरत शिक्षण संस्थानों, अस्पतालों और जन कल्याण से जुड़े केंद्रों पर तैनात लोगों को भी है.

इतना ही नहीं पहले से ही काम कर रहे 'वीमेंस हेल्पलाइन' और 'वीमेंस क्राइम सेल' को भी महिलाओं के प्रति संवेदनशीलता बरतने के निर्देश दिए जाएंगे.

'वीमेंस वॉलिंटियर फोर्स'

महिलाओं के प्रति अपराध को लेकर दिल्ली पुलिस को संवेदनशील बनाने की कोशिश

दिल्ली में महिलाओं के साथ सबसे ज़्यादा मुश्किलें सड़कों पर होती है. इसके लिए दिल्ली में सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था को मुस्तैद करने पर ध्यान दिया जाएगा.

तेजिंदर खन्ना ने कहा,“दिल्ली के अंदर चलने वाली सभी बस, ऑटो और टैक्सी ड्राइवरों की जांच होगी और उन्हें हमेशा अपना फोटो पहचान पत्र साथ लेकर चलना होगा.”

इसके अलावा दिल्ली पुलिस अब दिल्ली में काम कर रहे महिला संगठनों की प्रतिनिधियों को भी वॉलिंटियर के तौर पर काम करने की इजाज़त देगी, जो बसों में सफ़र करते हुए महिलाओं के साथ होने वाली अभद्रता के बारे में पुलिस को रिपोर्ट करेंगी.

ऐसी महिलाओं को 'वीमेंस वॉलिंटियर फोर्स' में भी शामिल किया जाएगा.

वहीं कामकाजी महिलाओं की कंपनियों ख़ासकर बीपीओ क्षेत्र की कंपनियों को यह सुनिश्चित करना होगा कि देर रात तक काम कर रही महिलाओं को उनके घर के दरवाज़े तक सुरक्षित छोड़ा जाए. ऐसा नहीं होने पर नियोक्ता कंपनी के अधिकारियों पर भी कार्रवाई होगी.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.