दिल्ली बलात्कार के विरोध में देश सड़कों पर

  • 29 दिसंबर 2012
Image caption दिल्ली बलात्कार पीड़ित की मौत के बाद लोगों में शोक की लहर है.

दिल्ली में 16 दिसंबर को हुई सामुहिक बलात्कार और उसके बाद हुई युवती की मौत की घटना से पूरे भारत में रोष की लहर है. मुल्क के अलग-अलग जगहों पर इस घटना के विरोध में प्रदर्शन हो रहे हैं और लोग इस तरह की घटनाओं के लिए सख्त सज़ा की मांग कर रहे हैं.

दिल्ली

राजधानी दिल्ली में सुबह से ही लोगों ने जंतर-मंतर पर पहुंचना शुरू कर दिया है. दोपहर तक करीब एक हज़ार लोग यहाँ जमा हो चुके थे. इसके अलावा शहर के दुसरे इलाक़ों में भी लोग इकट्ठा हो रहे हैं.

लोगों ने हाथ में बैनर ले रखे हैं जिनपर बलात्कारियों को मौत की सज़ा मिलने वाले कानून बनाए जाने की मांग है. हालांकि अधिकतर प्रदर्शनकारी व्यवस्थित हैं लेकिन कई लोग ऐसे भी हैं जिनके तेवर खासे तीखे हैं और वो सरकार की नाकामी पर नारेबाजी कर रहे हैं.

जंतर-मंतर के निकट सड़कों पर दूर-दूर तक सिर्फ टेलिविज़न चैनलों की गाडियां दिख रही रहीं हैं और मीडियाकर्मी सैकड़ों की तादाद में मौजूद हैं.

ख़ास बात यही है कि लोगों का पहुंचना जारी है और ऐसा लग रहा है कि अभी ये सिलसिला जारी रहेगा.

इलाके में ज़बरदस्त सुरक्षा इंतज़ाम हैं और जगह जगह नाकेबंदी की गई है. दिल्ली के सभी महत्त्वपूर्ण ठिकानों चौराहों और इंडिया गेट समेत सभी बड़े ठिकानों पर चेकपोस्ट लगा दिए हैं.

दूसरी तरफ शनिवार सुबह से ही दिल्ली मध्य भाग में स्थित दस मेट्रो स्टेशन सुरक्षा कारणों की बिना पर बंद कर दिए गए हैं.

पटना

दिल्ली बलात्कार पीड़ित की मौत के बाद बिहार के पटना में भी नागरिक मंच की तरफ से एक मौन जुलूस निकाला गया. पटना के अलावा राज्य के कई दूसरे शहरों में भी विरोध प्रदर्शन हुए हैं.

Image caption प्रदर्शनकारियों ने पटना में भी बलात्कारियों को मौत की सज़ा देने की मांग की है.

प्रदर्शनकारियों ने पटना रेलवे जंक्शन से डाकबंगला चौराहा होते हुए गांधी मैदान तक मार्च किया. इस मार्च में सैकड़ों की तादाद में लोगों ने हिस्सा लिया.

पटना में हुए प्रदर्शन में कई गणमान्य लोगों ने काली पट्टी बांधकर विरोध जताया है.

कुछ महिला संगठनों और छात्र युवा संगठनों ने शनिवार को काले दिवस के रुप में मानाने की घोषणा की है.

इसके अलावा प्रदर्शनकारियों की मांग है कि संसद का विशेष सत्र बुलाकर विचार होना चाहिए कि इस गंभीर समस्या से कैसे निपटा जाए.

लोगों की मांग है कि इस मामले में शामिल अपराधियों को मौत की सज़ा दी जानी चाहिए.

जयपुर

दिल्ली पीड़ित के समर्थन में आवाज़ जयपुर में भी उठी. जयपुर के स्टेच्यु सर्कल पर सैकड़ों लड़के लड़कियों ने इक्ट्ठे होकर विरोध प्रदर्शन किया.

प्रदर्शनकारियों ने लड़की की मौत पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए कानून सख्त करने और आरोपियों को कड़ी सज़ा देने की मांग की.

बैंगलोर

बैंगलोर के विभिन्न इलाकों में भी दिल्ली की बलात्कार पीड़ित के लिए शोक मार्च निकाल गया. कई स्कूलों के बच्चे ने अलग अलग स्थानों पर मार्च निकालकर बलात्कारियों को मौत की सज़ा देने की मांग की.

इसके अलावा नौजवानों ने बलात्कार पीड़ित की मौत के विरोध में मोटरसाइकिल रैली भी निकाली.

बैंगलोर में शनिवार शाम को सात बजे फ्रीडम पार्क में मोमबत्ती जलाकर शोक मार्च निकाले जाने की योजना है. लोगों में इस घटना को लेकर रोष और शोक व्याप्त है.

बैंगलोर में भी पिछले दिनों इस तरह की घटनाएं हुई हैं जिसकी वजह से लोगों में गुस्सा और ज्यादा है.

संबंधित समाचार