बंगाल में बलात्कार और दिल्ली में छेड़छाड़

  • 30 दिसंबर 2012
बलात्कार पर विरोध
Image caption देश भर में महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग हो रही है

दिल्ली में 23 वर्षीय छात्रा के साथ सामूहिक बलात्कार की घटना पर देश भर में हो रहे विरोध और महिलाओं की सुरक्षा के लिए सरकार के वादों के बावजूद ऐसी घटना रुक नहीं रही हैं.

दिल्ली में ही शनिवार को जहां बस में एक किशोर लड़की के साथ छेड़छाड़ की गई, वहीं पश्चिम बंगाल के बारासात में एक 45 वर्षीय महिला की कथित सामूहिक बलात्कार के बाद हत्या कर दी गई.

इस महिला के पति की बुरी तरह पिटाई भी की गई और अब उन्हें कोलकाता के अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

पश्चिम बंगाल में ये घटना राजधानी कोलकाता से 40 किलोमीटर दूर हुई.

'बलात्कार और हत्या'

समाचार एजेंसी पीटीआई ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भास्कर मुखर्जी के हवाले से कहा है कि महिला के बेटे अलाफाज अली ने शनिवार को बारासात पुलिस थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है और कहा है कि उनकी मां के साथ सामूहिक बलात्कार हुआ और फिर हत्या कर दी गई. उनके पिता के चेहरे पर तेजाब जैसी चीज फेंकी गई और गंभीर रूप से जख्मी किया गया है.

ये पति-पत्नी शनिवार को काम के बाद घर लौट रहे थे कि कुछ लोगों ने महिला को परेशान करना शुरू कर दिया. पति ने जब इसका विरोध किया तो उनकी पिटाई की गई जबकि अन्य लोगों ने महिला के साथ बलात्कार किया.

अलाफाज अली ने बताया, “उनके सिर पर चोट थी. उन्होंने उनका बलात्कार किया और हत्या कर दी. मेरे पिता ने उनमें से एक को पहचान लिया है.” इस मामले में अभी एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है.

दिल्ली में छेड़छाड़

दूसरी तरफ दिल्ली में भी शनिवार को चलती बस में एक किशोर लड़की के साथ कथित रूप से छेड़छाड़ हुई.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार ये घटना केंद्रीय दिल्ली में मंडी हाउस इलाके की है, जहां बस में सवार एक अन्य बस के कंडक्टर ने इस लड़की के साथ छेड़छाड़ की.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया, “लड़की नारंगी रंग की क्लस्टर बस में चढ़ी. जब बस रात 11 बजे के आसपास मंडी हाउस पहुंची तो कंडक्टर ने लड़की को छेड़ा.”

पुलिस ने अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया है.

संबंधित समाचार