वायु सेना के विमान का उपयोग या दुरुपयोग?

Image caption सोनिया गाधी ने 23 बार प्रधानमंत्री के साथ भारतीय वायुसेना के विमानों में यात्रा की. फाइल तस्वीर, एपी

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पिछले सात साल में 49 बार भारतीय वायुसेना के विमानों और हेलिकॉप्टरों से यात्रा की.

इन हवाई यात्राओं में वो 23 बार प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ थी. वहीं इन उड़ानों में एक बिल अभी बकाया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक ये जानकारी सूचना का अधिकार के तहत हरियाणा के एक आरटीआई कार्यकर्ता के पूछे गए सवालों के बाद प्राप्त हुई है.

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस के महासचिव राहुल गांधी ने भी पिछले तीन साल में सात बार भारतीय वायुसेना की सेवाओं का इस्तेमाल किया.

सोनिया गांधी और राहुल गांधी के पास भारतीय वायुसेना के विमानों का इस्तेमाल करने का हक नहीं है. इसलिए उन्हें ऐसे लोगों के साथ यात्रा करनी पड़ी है जिनके पास आधिकारिक यात्रा के लिए ये हक है जैसे कि प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और रक्षा मंत्री.

दूसरे कैबिनेट मंत्री प्रधानमंत्री से अनुमति लेकर ऐसा कर सकते हैं.

बिल बकाया

सिर्फ प्रधानमंत्री गैर-आधिकारिक कारणों के लिए भी वायुसेना की सेवा का इस्तेमाल कर सकते हैं.

भारतीय वायु सेना के नियमों के अनुसार जिन लोगों को वो यात्रा सेवा दे सकती है उन लोगों के पास दूसरे लोगों को अपने साथ साथ यात्रा करवाने की छूट होती है.

आरटीआई की जानकारी ये भी पता चला है कि सोनिया के 49 दौरों में 42 बार कोई खर्च या बिल नहीं आया क्योंकि उनमें वो योग्य लोगों के साथ यात्रा कर रही थीं.

छह बार यात्राओं का बिल बना जिसका संबंधित विभाग ने मूल्य चुका दिया. लेकिन कर्नाटक सरकार पर 1.17 करोड़ रुपए का एक बिल अभी बकाया है.

वहीं राहुल गांधी के उड़ानों मे भी एक बिल अभी देय है जिसकी राशि 8.26 लाख रूपए है.

संबंधित समाचार