ठंड से अब तक सैकड़ों मौतें

Image caption उत्तर भारत में ठंड से अब तक 200 लोगों की मौत

उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड का प्रकोप जारी है. शीतलहर के चलते बीते चौबीसं घंटे के दौरान में 29 लोगों की मौत की ख़बर है. इस सीजन में ठंड से लगभग 200 लोगों की मौत हो चुकी है.

राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली के अलावा उत्तर प्रदेश, हरियाणा और राजस्थान में कड़ाके की ठंड पड़ रही है.

उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा मौतें हुईं हैं. बीते 24 घंटे में गाजीपर में छह लोगों की जानें गईं हैं. जबकि आजमगढ़ और बाराबंकी में तीन-तीन लोगों की मौत हुई है. लखनऊ में तापमान 0 डिग्री सेल्सियस से भी नीचे गिर चुका है. अकेले इस राज्य में अब तक 175 लोग ठंड के चलते जान गंवा चुके हैं.

पंजाब के अमृतसर में भी पारा 1.8 डिग्री तक गिर गया है. बीते 24 घंटे में अमृतसर में तीन लोगों की मौत हुई है. पंजाब में इस साल सर्दी से 13 और हरियाणा में अब तक आठ लोगों की मौत हो चुकी है.

वहीं चंडीगढ़ में 30 साल में सबसे ज़्यादा ठंड का दिन रहा है. चंडीगढ़ में सोमवार को अधिकतम तापमान 6.1 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया.

उत्तराखंड में तापमान एक डिग्री सेल्सियत तक पुहंच गया है. हरिद्वार में ठंड से चार लोगों की मौत हुई है. जबकि राजस्थान में भी कड़ाके की ठंड से दो लोगों की मौत हुई है.

रेलगाड़ी बनी बैलगाड़ी

कड़ाके की ठंड के चलते पूरे उत्तर भारत में जन जीवन अस्त व्यस्त है. कोहरे और ठंड के चलते रेलगाड़ियां समय से काफी विलंब से चल रही हैं. नई दिल्ली से चलने और पहुंचने वाली करीब 300 ट्रेनों को रद्द किया जा चुका है. जबकि 900 ट्रेनों के समय में बदलाव किया गया है. नई दिल्ली पहुंचने वाली करीब 50 फीसदी ट्रेन अपने समय से 2 से 29 घंटे तक विलंब से चल रही है.

विलंब से चलने वाली ट्रेनों में राजधानी, दुरंतो और शताब्दी एक्सप्रेस भी शामिल हैं. नई दिल्ली से प्रत्येक शाम 5.10 बजे छूटने वाली भुवनेश्वर राजधानी एक्सप्रेस सोमवार की शाम के बदले मंगलवार की सुबहर 5.30 बजे रवाना हो सकी है. भागलपुर से आनंद विहार को जोड़ने वाली 22405 एक्सप्रेस 48 घंटे से भी ज्यादा विलंब से चल रही है.

सोमवार को 18 ट्रेन रद्द हुई हैं. रेलगाड़ियों के विलंब से चलने के चलते प्रत्येक दिन करीब 5 लाख लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

ठंड का असर बीते दो दिनों के दौरान विमान सेवाओं पर भी खूब दिखा. लेकिन मंगलवार को कोहरा कम होने के चलते हवाई उड़ान सुचारू रूप से चल रहे हैं.

संबंधित समाचार