अमिताभ को टैक्स चोरी का नोटिस

 मंगलवार, 8 जनवरी, 2013 को 15:27 IST तक के समाचार
अमिताभ बच्चन

आयकर विभाग का कहना है कि अमिताभ ने टैक्स बचाया है

सुप्रीम कोर्ट ने टैक्स चुराने के मामले में बॉलीवुड स्टार अमिताभ बच्चन को नोटिस जारी किया है. अदालत ने ये नोटिस आयकर विभाग की एक याचिका पर जारी किया है.

आयकर विभाग का कहना है कि अमिताभ बच्चन को अपने टीवी शो कौन बनेगा करोड़पति के लिए बकाया 1.66 करोड़ रुपये का टैक्स चुकाना है. ये टैक्स 2002-2003 की अवधि का है.

इससे पहले जुलाई 2012 में अमिताभ को बॉम्बे हाई कोर्ट से उस वक्त राहत मिली थी जब अदालत ने इस मामले को खोलने वाले आयकर आयुक्त की अपील को खारिज कर दिया था.

हाई कोर्ट ने अपने फैसले में आयकर ट्राइब्यूनल के निर्णय को बरकरार रखते हुए कहा था कि कर निर्धारण अधिकारी की ओर से आयकर अधिनियम की धारा 147 के तहत शुरू की गई कार्यवाही अनुचित है. हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ आयकर विभाग ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया.

13 अक्टूबर 2002 को अमिताभ बच्चन ने अपनी आमदनी 14.99 करोड़ बताते हुए रिटर्न फाइल किया था.

लेकिन 31 मार्च 2003 को अमिताभ ने संशोधित रिटर्न दाखिल करते हुए अपनी आय 8.11 करोड़ रुपये बताई. कर निर्धारण की प्रक्रिया पूरी होने से पहले ही अमिताभ ने 13 मार्च 2004 में संशोधित रिटर्न वापस ले लिया.

इस मामले में 29 मार्च 2005 को मूल्यांकन अधिकारी ने 2002-03 के लिए अमिताभ की आय 56.11 करोड़ तय की और धारा 147 के तहत उन्हें बकाया भुगतान के लिए नोटिस भेजा.

फिर से कर निर्धारण करने की वजह यह बताई गई कि अमिताभ के पास सात बैंक खाते हैं, जबकि उन्होंने छह का ही ब्यौरा दिया था.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.