ओपरा के शो पर दिल खोलेंगे आर्मस्ट्रॉन्ग

Image caption डोपिंग के आरोप लगने के बाद पहली बार इंटरव्यू देंगे लांस आर्मस्ट्रॉन्ग

मशहूर अमरीकी साइक्लिंग खिलाड़ी लांस आर्मस्ट्रॉन्ग टीवी पर अपने दिल की बात कहेंगे.

डोपिंग के आरोपों को सार्वजनिक रुप से स्वीकार कर लेने के क्यासों के बीच लांस आर्मस्ट्रॉन्ग मशहूर शो होस्ट ओपरा विनफ़्रे के चैट शो पर आने वाले हैं.

अमरीकी एंटी डोपिंग एजेंसी के आरोपों के बाद सात बार के टूर डे फ्रांस ख़िताब विजेता लांस आर्मस्ट्रॉन्ग को अंतरराष्ट्रीय साइक्लिंग यूनियन ने उनके ख़िताबों से वंचित कर दिया था.

विनफ़्रे के प्रोडक्शन हाउस की ओर से कहा गया है कि 90 मिनट चलने वाला ये शो ‘धोखा देन के वर्षों तक लगे आरोपों’ के मुद्दे पर केंद्रित होगा.

अमरीकी एंटी डोपिंग एजेंसी द्वारा आजीवन प्रतिबंध लगाए जाने के बाद से ही लांस आर्मस्ट्रॉन्ग कहते रहे हैं कि वो निर्दोष हैं.

इस इंटरव्यू की घोषणा ओपरा विनफ़्रे ने मंगलवार को ट्वीट करते हुए की, जिसके 15 मिनट बाद लांस आर्मस्ट्रॉन्ग ने उस ट्वीट को दोहराते हुए इसकी पुष्टी की.

वहीं न्यूयॉर्क टाइम्स अख़बार में पिछले शुक्रवार को छपी रिपोर्ट के अनुसार 41 वर्षीय लांस आर्मस्ट्रॉन्ग सार्वजनिक तौर पर प्रतिबंधित दवाएं लेने की बात को स्वीकार कर सकतें है.

अनुमान लगाए जा रहे हैं कि ग़लती मान लेने से हो सकता है कि उन्हें मैराथन और ट्राइलथन प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेने की अनुमति मिल जाए.

ख़िताब छीने जाने के बाद होने वाला ये पहला इंटरव्यू होगा और इसे 17 जनवरी को ओपरा विनफ़्रे के ओडब्लयूएन नेटवर्क पर प्रसारित किया जाएगा जिसे ऑनलाइन स्ट्रीम भी किया जाएगा.

क्या है मामला

आर्मस्ट्रॉन्ग ने साल 2011 में खेल से औपचारिक रुप से संन्यास ले लिया था.

साल 1996 में ये पता चलने पर कि उन्हें कैंसर है, आर्मस्ट्रॉंग ने हिम्मत नहीं हारी और बेहद दर्दनाक कीमोथेरेपी करवाई और 1998 में पूरी तरह स्वस्थ होकर साइक्लिंग ट्रैक में दोबारा उतरे.

उनकी वापसी शानदार रही और वो 1999 से 2005 तक खेल में छाए रहे. इस दौरान उन्होंने सात बार टुअर डे फ्रांस रैली जीती.

लांस आर्मस्ट्रॉन्ग पर रेस में बेहतर प्रदर्शन के लिए प्रतिबंधित दवाओं और स्टेरॉयड्स का सेवन करने के आरोप लगे. हांलाकि लांस आर्मस्ट्रॉन्ग इन आरोपों से इनकार करते रहे हैं.

लांस आर्मस्ट्रॉन्ग का कहना है कि वो पूरी तरह निर्दोष हैं लेकिन अपने बचाव की लड़ाई को अब विराम देना चाहते हैं क्योंकि इससे उन्हें और उनके परिवार को काफ़ी दुख पहुंच रहा है.

संबंधित समाचार