भारत-पाक फ़्लैग मीटिंग में आरोप-प्रत्यारोप

Image caption नियंत्रण रेखा उल्लंघन के आरोप भारत और पाकिस्तान ने एक दूसरे की सेनाओं पर लगाया है

नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच पैदा हुए तनाव को कम करने की दिशा में सोमवार को पुंछ के चका दा बाग़ में दोनों देशों के ब्रिगेड कमांडर स्तर के अधिकारियों की बैठक हुई.

दोनों देशों के बीच संघर्ष विराम के उल्लंघन के आरोप-प्रत्यारोप के बीच हुई ये फ्लैग मीटिंग लगभग आधे घंटे तक चली.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार बैठक दोपहर एक बजे शुरू हुई और क़रीब डेढ़ बजे ख़त्म हो गई.

भारतीय सेना की ओर से ब्रिगेडियर टीएस संधू ने मीटिंग की अगुवाई की.

पीटीआई के अनुसार बैठक में भारत ने पाकिस्तान के सामने दो भारतीय जवानों की जघन्य हत्या, पुंछ सेक्टर में घुसपैठ और पाकिस्तान की तरफ़ से संघर्ष विराम के लगातार उल्लंघन पर विरोध दर्ज कराया है.

पाकिस्तान का विरोध

बीबीसी संवाददाता रियाज़ मसरूर ने कहा कि फ़्लैग मीटिंग के दौरान पाकिस्तान ने भी भारत पर नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम के उल्लंघन का आरोप लगाया और छह जनवरी को भारत की ओर से की गई गोलीबारी पर कड़ी शिकायत दर्ज की.

बाद में पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में पाकिस्तानी सेना के मीडिया विभाग ने एक बयान जारी कर कहा कि फ़्लैग मीटिंग के दौरान पाकिस्तान ने भारत पर संघर्ष विराम के उल्लंघन के आरोप लगाते हुए कड़ा विरोध दर्ज कराया.

पाकिस्तान ने इस बात से भी इंकार किया है कि उसके सैनिकों ने आठ जनवरी को भारतीय इलाक़े में घुसपैठ की और मारे गए भारतीय सैनिकों के शवों को क्षत-विक्षत किया था.

इस घटना के बाद दोनों ओर तनाव बढ़ गया था और माहौल को बेहतर बनाने के लिए भारत ने पाकिस्तान से फ़्लैग मीटिंग करने के लिए अनुरोध किया था.

पाकिस्तान ने रविवार को इस बैठक के लिए अपनी रज़ामंदी दी थी और सोमवार को बैठक करने का फ़ैसला किया गया था.

नियंत्रण रेखा पर हुई गोलीबारी के बाद पाकिस्तान ने दोनों ओर से किए जाने वाले व्यापार पर पाबंदी लगा दी है.

संबंधित समाचार