भारत शांति प्रक्रिया बहाल रखने की पूरी कोशिश करेगा: ख़ुर्शीद

  • 14 जनवरी 2013
भारत पाक नियंत्रण रेखा
Image caption नियंत्रण रेखा पर दोनों ओर से गोलियां चलने की बात कही जा रही है जिसके बाद तनाव बढ़ गया है.

भारत के विदेश मंत्री सलमान ख़ुर्शीद ने कहा है कि सरकार इस बात की पूरी कोशिश करेगी कि पाकिस्तान के साथ जारी शांति प्रक्रिया बाधित न होने पाए.

इस बीच प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी के नेता, सुषमा स्वराज और अरूण जेटली से दिल्ली में मुलाक़ात की है और उन्हें भरोसा दिलाया है कि सरकार इस मामले में जो भी क़दम उठाएगी उन्हें इसकी जानकारी मिलती रहेगी.

मनमोहन सिंह ने दोनों नेताओं से कहा है कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार शिवशंकर मेनन उन्हें इस मामले में और जानकारी मंगलवार को देंगे.

'फौज ही से सही मुल्यांकन'

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ सलमान ख़ुर्शीद ने कहा है कि सीमा पर क्या हुआ इसका मुल्यांकन तो फ़ौज से ही हासिल हो सकता है.

पड़ोसी देश भूटान की यात्रा पर गए भारतीय विदेश मंत्री ने कहा, "अंततः हमें उनके मुल्यांकन को जानना पड़ेगा. लेकिन हमें इस मामले में क्या करना है, कबतक करना है, क्या करना है, इसका फ़ैसला सरकार करेगी."

ख़ुर्शीद के मुताबिक़ सरकार ने शांति प्रक्रिया को बहाल करने में बहुत मेहनत की है और इसलिए वो इसे 'पटरी से नहीं उतरने देगी.'

'शांति ज़रूरी'

उन्होंने कहा, "जब आप शांति प्रक्रिया के लिए बहुत मेहनत करते हैं, तो आप ऐसा सिर्फ इसलिए नहीं करते क्योंकि ये सुनने में अच्छा लगता है. आप ऐसा इसलिए करते हैं क्योंकि आपका यक़ीन शांति में है और आपको पता होता है कि यही व्यवहारिक है. क्योंकि अशांति की क़ीमत उससे कहीं ज़्यादा है जितनी मेहनत आप शांति बहाल करने में करते हैं."

आगे बोलते हुए उन्होंने कहा कि हम अभी भी उसके लिए प्रतिबद्ध हैं और इस बात की पूरी कोशिश कर रहे हैं कि शांति प्रक्रिया बाधित न होने पाए, कम से कम उतनी तो नहीं जितनी बाधित होते हुए हमने पहले देखा है.

संबंधित समाचार