'युवराज' ने सँभाली नंबर दो की भूमिका

 बुधवार, 23 जनवरी, 2013 को 18:18 IST तक के समाचार

राहुल ने संभाला दफ्तर.

कांग्रेस के 'युवराज' ने पार्टी में नंबर दो की भूमिका औपचारिक रूप से संभाल ली है. उन्होंने कमान संभालते ही सकारात्मक राजनीति के ज़रिए देश को आगे ले जाने की बात की.

कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष बनाए जाने के बाद पहली बार राहुल गांधी कांग्रेस दफ्तर पहुंचे और वहां पार्टी के नेताओं से मुलाकात की.

राहुल वहां मीडिया से भी मिले और बातचीत के क्रम में ये स्पष्ट कर दिया कि वो सकारात्मक राजनीति करना चाहते हैं.

राहुल गांधी ने कहा, “मैं नकारात्मक राजनीति नहीं करना चाहता, सकारात्मक राजनीति चाहता हूं और यही देश को आगे ले जाएगा.”

राहुल गांधी ने कहा कि पहले दिन वो अधिक नहीं बोलना चाहते और ना ही गहराई में जाना चाहते हैं लेकिन वो ये जरूर चाहते हैं कि पार्टी में युवाओं को मौका मिले.

राहुल का साफ संदेश?

इससे पहले जब बतौर उपाध्यक्ष राहुल गांधी की ताजपोशी की गई थी तो उन्होंने कांग्रेस पार्टी की तारीफ के साथ-साथ पार्टी की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए थे.

राहुल ने कांग्रेस की कार्यप्रणाली पर भी टिप्पणी की थी और कहा था कि पार्टी में शायद किसी को नहीं मालूम कि कांग्रेस का नियम क्या है और ये चलती कैसे है, चुनाव कैसे जीत लेती है?

उनका कहना था, "कांग्रेस गांधी जी का संगठन है और इसमें हिंदुस्तान का डीएनए भरा हुआ है. हमारे विपक्ष के लोग इसे समझ नहीं पाते. कोई कहता है मैं इस जाति की पार्टी हूं, मैं इस धर्म की पार्टी हूं. लेकिन कांग्रेस कहती है कि हम हिंदुस्तान की पार्टी हैं."

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.