गडकरी: हमारी सरकार आई तो सोनिया भी नहीं बचा पाएँगी

 गुरुवार, 24 जनवरी, 2013 को 15:05 IST तक के समाचार
नितिन गडकरी

नितिन गडकरी भ्रष्टाचार से जुड़े आरोपों के बाद दोबारा भाजपा अध्यक्ष नहीं बन सके

भारतीय जनता पार्टी के पूर्व अध्यक्ष नितिन गडकरी ने इधर पद छोड़ा और उधर उन्होंने आयकर विभाग के अधिकारियों को ये कहते हुए धमकी भी दे डाली कि अगर उनकी पार्टी केंद्र में सत्ता में आ गई तो उन्हें सोनिया गाँधी भी नहीं बचा पाएँगी.

नागपुर में हवाई अड्डे के पास पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए गडकरी ने आरोप लगाया कि उन्हें बदनाम करने के लिए साज़िश रची गई है.

अगले आम चुनाव में कांग्रेस के चुनाव हारने की बात करते हुए उन्होंने कहा, "पहले सीबीआई थी जो कांग्रेस नेताओं के इशारे पर चल रही थी, ये षड्यंत्र उन्होंने किया. अब भी वे कोशिश कर रहे हैं रात दिन नागपुर में बैठकर, पुणे में बैठकर दिल्ली में बैठकर... और वो अधिकारियों के नाम भी मुझे मालूम हुए हैं कि वे कौन-कौन हैं.."

इसके बाद गडकरी ने सीधे तौर पर उन अधिकारियों को धमकी दी, "उन्हें भी याद रखना चाहिए कि कांग्रेस के शासन की तो ये नैया डूबी हुई है, ये जब जाएगी और जब हमारी सरकार आएगी, तो तुम्हें बचाने के लिए कोई चिदंबरम और कोई सोनिया गाँधी नहीं आएगी."

गडकरी के आरोप

"कांग्रेस के शासन की तो ये नैया डूबी हुई है, ये जब जाएगी जब हमारी सरकार आएगी, तो तुम्हें बचाने के लिए कोई चिदंबरम और कोई सोनिया गाँधी नहीं आएगी"

नितिन गडकरी, पूर्व भाजपा अध्यक्ष

गडकरी ने पूर्ति समूह के सौदों में किसी भी तरह की धांधली से इनकार किया है और लगातार आरोप लगाया है कि कांग्रेस आयकर विभाग का इस्तेमाल कर रही है.

इतना ही नहीं उन्होंने एक बार फिर कांग्रेस में किसी का नाम लिए बिना कहा, "एक मालकिन और बाक़ी सब नौकर..."

दरअसल मंगलवार को आयकर विभाग के अधिकारियों ने मुंबई में नौ जगहों पर छान-बीन शुरू की थी जिसके बारे में कहा गया था कि वे गडकरी के पूर्ति ग्रुप से जुड़ी हैं.

उसके बाद काफ़ी दबावों के बीच गडकरी ने भाजपा अध्यक्ष का पद दोबारा नहीं सँभालने का फ़ैसला किया और राजनाथ सिंह को पार्टी अध्यक्ष बनाया गया.

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.