हाफ़िज़ सईद से यासीन मलिक की मुलाक़ात का सच

यासीन मलिक
Image caption अफ़ज़ल गुरू को फाँसी दिए के ख़िलाफ़ यासीन धरने पर बैठे थे

“जब मैंने 2006 में हाफ़िज़ सईद के कैम्प में जाकर उनसे चार घंटे बातचीत की, उनके जलसे में भाषण दिया तब हिंदुस्तान में इतना हंगामा क्यों खड़ा नहीं हुआ?” कश्मीर के अलगाववादी नेता यासीन मलिक ने ये सवाल किया है.

भारत जिस हाफ़िज़ सईद को 26 नवंबर को मुंबई पर हुए हमलों के लिए ज़िम्मेदार मानता है, उनके साथ यासीन मलिक की तस्वीरें और वीडियो प्रकाशित होने पर हंगामा खड़ा हो गया है.

उन्होंने कहा है कि न तो उन्होंने हाफ़िज़ सईद को आमंत्रित किया था और न ये मुलाक़ात किसी जलसे में हुई.

हाफ़िज़ सईद पाकिस्तान से काम करने वाले चरमपंथी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के संस्थापक माने जाते हैं और भारत में वो मोस्ट वांटेड हैं. अमरीका ने भी उनकी गिरफ़्तारी में मदद करने वाले को एक करोड़ डॉलर का इनाम देने की घोषणा की है.

इस्लामाबाद से बीबीसी हिंदी को दिए एक इंटरव्यू में यासीन मलिक ने सफ़ाई दी है कि वो अफ़ज़ल गुरू को फाँसी दिए जाने के ख़िलाफ़ इस्लामाबाद प्रेस क्लब में अनशन पर बैठे थे जहाँ हज़ारों दूसरे लोगों के साथ हाफ़िज़ सईद भी पहुँचे.

संयोग?

उन्होंने कहा, “वहाँ हज़ारों की तादाद में लोग आए थे. सिविल सोसाइटी, मानवाधिकार कार्यकर्ता और आज़ाद कश्मीर की पूरी लीडरशिप वहाँ थी. हाफ़िज़ सईद भी 15 मिनट के लिए आए और फिर चले गए.”

यासीन मलिक ने कहा कि ये सच है कि वो अपने व्यक्तिगत काम से अपनी दस महीने की बच्ची के दस्तावेज़ (पासपोर्ट आदि) बनवाने के लिए पाकिस्तान गए थे (यासीन मलिक की पत्नी पाकिस्तानी हैं). लेकिन अफ़ज़ल गुरू को फाँसी की ख़बर मिलने के बाद उन्होंने शांतिपूर्ण प्रतिरोध करने के लिए अनशन किया.

मलिक ने सवाल उठाया कि हंगामा अभी क्यों उठाया जा रहा है.

यासीन मलिक ने कहा, “ये शख़्स (हफ़ीज़ सईद) 2006 में भी हिंदुस्तान के लिए मोस्ट वान्टेड था, सलाउद्दीन साहब (हिज़बुल मुजाहिदीन के प्रमुख) भी मोस्ट वांटेड थे. पर तब मैं उनके मुरीदा वाले कैम्प में गया. मैंने हफ़ीज़ सईद के साथ मीटिंग की, उनके मंच पर भी मैं गया. मैंने मिलिटेंट लीडरशिप से कहा कि वो शांति प्रक्रिया में हिस्सा लें. पर तब हिंदुस्तान में ये विवाद उठा?”

यासीन मलिक जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ़्रंट के नेताओं में से हैं लेकिन अब वो शांतिपूर्ण तरीक़े से कश्मीर की लड़ाई लड़ने का संकल्प कर चुके हैं.

संबंधित समाचार