हाफिज़ मंच पर आए पर बात नहीं हुई: यासीन

हाफिज़ सईद
Image caption इस्लामाबाद में सईद और मलिक मंच पर एक साथ मौजूद थे.

लश्कर-ए-तैबा के संस्थापाक हाफिज सईद के साथ जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के नेता यासीन मलिक का एक साथ देखे जाने का मामला तूल पकड़ रहा है. हालांकि उन्होंने पाकिस्तान में लश्कर प्रमुख हाफिज़ सईद के साथ बातचीत के मसले पर इनकार किया है.

बीबीसी संवाददाता राजेश जोशी से बातचीत में यासीन मलिक ने कहा, "मैं पाकिस्तान निजी कारणों से आया हुआ था. इसी बीच अफज़ल गुरु की फाँसी की ख़बर आ गई. मैंने इस्लामाबाद में 24 घंटे की भूख हड़ताल का ऐलान किया था. प्रेस क्लब के सामने. भूख हड़ताल में शिरकत करने के लिए हमने किसी को दावत नहीं दी थी."

इस बीच हाफिज़ सईद और यासीन मलिक के एक साथ दिखाए देने को लेकर भारत में सियासी माहौल गर्म हो गया है.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने कांग्रेस प्रवक्ता संदीप दीक्षित के हवाले से बताया कि पार्टी ने केंद्र सरकार को मामले की पड़ताल करने के लिए कहा है.

इससे पहले सूचना एवं प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी ने सईद और मलिक के मंच पर एक साथ मौजूदगी को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है.

भारत के गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने भी इस बाबत पूछे जाने पर पत्रकारों से कहा,"मैं मामले की जांच करूंगा".

जेकेएलएफ नेता यासीन मलिक एक निजी यात्रा पर पाकिस्तान गए हुए हैं. भारतीय संसद पर हमलों के दोषी अफ़ज़ल गुरु को फांसी पर मातम मनाने के लिए यासीन मलिक और हाफिज़ सईद एक ही मंच पर दिखे थे.

विपक्षी पार्टी भाजपा की जम्मू कश्मीर इकाई ने यासिन मलिक का पासपोर्ट रद्द किए जाने की मांग की है.

संबंधित समाचार