कश्मीर: कर्फ्यू हटते ही प्रदर्शन शुरू

कश्मीर
Image caption कश्मीर में पिछले सात दिनों से लगातार कर्फ़्यू जारी था.

भारत प्रशासित कश्मीर में पिछले सात दिनों से जारी कर्फ़्यू के हटाए जाते ही प्रदर्शन शुरू हो गए जिनमें कई लोग घायल हो गए हैं.

संसद हमले के दोषी अफ़ज़ल गुरु की अचानक हुई फांसी के बाद घाटी में कर्फ़्यू लगा दिया गया था.

इस दौरान पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच अलग-अलग जगहों पर हुई झड़पों में तीन लोगों की मौत हो गई थी.

श्रीनगर में जमा हुए प्रदर्शनकारी ईदगाह के पास स्थित 'शहीद कब्रिस्तान' जाना चाहते थे, लेकिन पुलिस और अर्धसैनिक बलों की टुकड़ियों ने उन्हें खदेड़ दिया, जिसके बाद वहां पथराव शुरू हो गया.

गिलानी

इसके बाद कुछ इलाक़ो में लोगों की आवाजाही पर फिर से रोक लगा दी गई है.

पृथकतावादी नेता सैयद अली शाह गिलानी ने दो दिनों की हड़ताल का आह्वान किया है.

पुलिस के सूत्रों का कहना है कि हंगामे के बाद सुरक्षा टुकड़ियों की तैनाती बढ़ा दी गई है. हालांकि उन्होंने कहा कि कहीं भी कर्फ़्यू फिर से लागू नहीं किया गया है.

शव

इस बीच उत्तरी ज़िले कुपवारा में दो शवों के पाए जाने की ख़बर ने तनाव पैदा कर दिया था.

ख़बर फैलने लगी कि दोनों लोग पुलिस की गोली का शिकार हुए हैं. बाद में पुलिस ने साफ किया कि ये मौतें एक वाहन दुर्घटना में हुई थीं.

घाटी में अफ़ज़ल गुरु के शव को परिवार को वापस दिए जाने की मांग तेज़ हो रही है.

अफ़ज़ल गुरु को फांसी के बाद दिल्ली के तिहाड़ जेल में ही दफ़ना दिया गया था, लेकिन परिवार ने मांग की है कि शव को उन्हें वापस दिया जाए.

संबंधित समाचार