'मनचलों' को पीटने वाली के ही खिलाफ़ रिपोर्ट!

  • 21 फरवरी 2013
अमृता
अमृता तिरुअनंतपुरम के एक कॉलेज में अंग्रेजी में स्नातक की पढाई कर रहीं हैं और उन्हें जूडो-कराटे में महारथ भी हासिल है.

केरल की राजधानी तिरुअनंतपुरम में 20 वर्षीय युवती ने कथित छेड़छाड़ करने वालों को तो पीट कर भगा दिया लेकिन उनमें से एक ने अब उसी के ख़िलाफ पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करा दी है.

मामला 14 फरवरी का है और सबसे दिलचस्प बात यह है कि इस युवती के साथ कथित छेड़छाड़ तब हुई जब वह यौन उत्पीडन के खिलाफ आयोजित हुए 'वन बिलियन राइजिंग' कार्यक्रम में हिस्सा लेकर रात को घर लौट रही थी.

बीबीसी से हुई ख़ास बातचीत में अमृता मोहन ने बताया कि उनके साथ कार में सवार कुछ युवकों ने छेड़छाड़ की और कई भद्दे व्यंग्य भी किए.

उन्होंने बताया, "मैं अपनी मित्र के साथ अपनी बाइक पर लौट रही थी और कार में सवार इन लोगों ने भद्दे इशारे करने शुरू कर दिए. मैंने पूछा आपको तक़लीफ क्या है और बहस शुरू हो गई. मैंने कहा की अगर माद्दा है तो लौट कर आइए."

हाथापाई

इस युवती के मुताबिक़ जब ये लड़के वहां से आगे बढ़ रहे थे तब भी उन्होंने अपशब्दों का प्रयोग जारी रखा.

अमृता मोहन ने बताया, "पांच मिनट के भीतर ही उन्होंने अपनी गाड़ी पार्क कर मुझसे कहा कि हम वापस आ गए हैं अब तुम क्या कर सकती हो? मैंने जवाब नहीं दिया और तालियाँ बजाकर आस-पास के लोगों को इकट्ठा करना शुरू कर दिया. मेरे पिताजी भी वहां पहुंचे और तभी छेड़छाड़ करने वाले दो लोगों में से एक ने उन्हें धक्का दे दिया और वह ज़मीन पर गिर गए. फिर मैंने एक को पीटा और दूसरा भाग निकला".

अमृता मोहन को अपने फेसबुक अकाउंट पर सैंकड़ों लोगों का समर्थन भी मिल रहा है.

अमृता के अनुसार उन्हें इस घटना के बाद असल धक्का तब लगा जब कथित तौर पर उनसे छेड़छाड़ करने वाले व्यक्तियों में से एक ने उन्हीं के ख़िलाफ़ 'बिना कारण हमला' करने की पुलिस रिपोर्ट दर्ज करा दी.

स्थानीय पुलिस अब मामले की जांच कर रही है.

भारतीय मीडिया में अब इस घटना ने तूल पकड़ लिया है और अमृता मोहन को अपने फेसबुक अकाउंट पर सैकड़ों लोगों का समर्थन भी मिल रहा है.

अमृता तिरुअनंतपुरम के एक कॉलेज में अंग्रेजी में स्नातक की पढाई कर रही हैं और उन्हें जूडो-कराटे में महारत भी हासिल है.